नई दिल्ली,  रियो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता पहलवान साक्षी मलिक, विनेश फोगाट और दिव्या काकरान यहां आईजी स्पोर्ट्स कांप्लेक्स स्थित केडी जाधव कुश्ती स्टेडियम में सीनियर एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता के महिला वर्ग में आज स्वर्णिम इतिहास बनाने से चूक गयीं और तीनों ही पहलवानों को रजत पदक से संतोष करना पड़ा.

भारत को प्रतियोगिता के तीसरे दिन तीन स्वर्ण पदक की उम्मीद थी लेकिन उसके हाथ कोई स्वर्ण पदक नहीं लगा. साक्षी मलिक ने 60 किग्रा में, विनेश फोगाट ने 55 किग्रा में और दिव्या काकरान ने 69 किग्रा में रजत पदक जीते जबकि रितु ने 48 किग्रा में कांस्य पदक हासिल किया. भारतीय महिलाओं ने प्रतियोगिता में कुल पांच पदक हासिल किये.

ज्योति ने कल 75 किग्रा में कांस्य पदक जीता. भारत का स्वर्णिम सपना महिला कुश्ती के पावरहाउस समझे जाने वाले जापान की पहलवानों ने तोड़ा. देश को साक्षी से पूरी उम्मीद थी कि वह 60 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल करेंगी लेकिन रियो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली जापान की रिसाको कवाई ने मात्र दो मिनट 44 सेकंड में ही भारतीय पहलवान को धूल चटा दी. रिसाको ने 10-0 के अंतर से मुकाबला समाप्त कर दिया.

Related Posts: