rawatनई दिल्ली,  सीबीआई ने उत्तराखंड में विधायकों की कथित खरीद-फरोख्त से संबंधित स्टिंग ऑपरेशन की जांच के सिलसिले में राज्य के मुख्यमंत्री हरीश रावत से आज फिर करीब पांच घंटे पूछताछ की.

रावत पूर्व की भांति सुबह 11 बजे जांच एजेंसी के मुख्यालय पहुंचे. इसके कुछ ही देर बाद उनसे पूछताछ शुरू हो गई, जो करीब पांच घंटे तक चली. 24 मई को भी उनसे इतनी ही देर पूछताछ हुई थी. सीबीआई ने उन्हें आज फिर बुलाया था. पिछली पूछताछ के बाद जांच एजेंसी ने दावा किया था कि मुख्यमंत्री ने कुछ बिंदुओं पर स्पष्ट जवाब नहीं दिया था. रावत ने मुख्यालय पहुंचने के बाद संवाददाताओं से कहा कि सीबीआई उन सभी स्टिंग की भी जांच करे, जिनमें भाजपा के नेताओं के नाम आ रहे हैं. उन्होंने स्टिंग करनेवालों को साजिशकर्ता करार दिया और कहा कि उनकी भी जांच होनी चाहिए.

सीबीआई ने ‘स्टिंग ऑपरेशन’ से संबंधित जांच के सिलसिले में 29 अप्रैल को प्रारंभिक जांच की थी. स्टिंग में रावत बागी कांग्रेस विधायकों को रिश्वत की पेशकश करते दिखते हैं. बागी कांग्रेस विधायकों द्वारा स्टिंग जारी किए जाने के बाद रावत ने आरोप से इन्कार किया था और वीडियो को फर्जी करार दिया था, लेकिन बाद में उन्होंने कैमरे में खुद के होने की बात स्वीकार की थी.

Related Posts:

गूगल इंडिया पर कसा शिकंजा, इनकम टैक्स का नोटिस मिला
यादव सिंह सम्पत्ति मामला : 14 ठिकानों पर सीबीआई के छापे
राष्ट्रपति, सोनिया गांधी समेत अनेक नेताओं ने दी इंदिरा को श्रद्धांजलि
मथुरा हिंसा : मायावती ने अखिलेश यादव से की इस्तीफे की मांग
सवाल हिंदी में है, जवाब भी हिंदी में दीजिए : सीतारमण
पलक झपकते तबाह हो जाएंगी अब दुश्मन की पनडुब्बियां