SIRIYAदमिश्क.  उत्तरी सीरिया के अलग-अलग इलाकों में दो स्कूलों और पांच हॉस्पिटलों पर हुए हमले में 50 से ज्यादा लोग मारे गए और कई लोग जख्मी हुए हैं.
मरने वालों और घायलों में बच्चे भी शामिल हैं. यह जानकारी संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव बान की-मून ने दी है. यूएन के डेप्युटी प्रवक्ता फरहान हक ने कहा कि बान ने सोमवार को मिसाइल हमले में मारे गए लोगों की जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि इनमें बच्चे भी शामिल हैं. बान ने कहा कि यह हमला इंटरनेशनल नियमों का उल्लंघन है.

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक अलेप्पो और इदलिब प्रांतों में करीब 5 हॉस्पिटलों और दो स्कूलों में हुए इन हमलों में 50 लोगों के मारे जाने की आशंका है. सीरिया में कार्यरत कई सामाजिक कार्यकर्ताओं ने इन हमलों के लिए रूस को जिम्मेदार ठहराया है.

वहां काम करने वाले मेडिकल चैरिटी संस्था डॉक्टर्स विदाउट बॉर्डर्स (मेडिसा सां फ्रंतिए, एमएसएफ) ने आरोप लगाया कि इदलिब स्थित उसके एक फील्ड हॉस्पिटल को जान-बूझकर निशाना बनाया गया. तुर्की की सीमा के पास स्थित विद्रोहियों के कब्जे वाले अजाज शहर में बच्चों के एक हॉस्पिटल पर भी हमला हुआ. इसमें 10 लोगों की मौत हो गई.

अमरीका विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने हमले की आलोचना करते हुए कहा, इस तरह के हमलों से रूस पर शक होता है. सीरिया में असद की सरकार वहां के लोगों पर जो जुल्म ढा रही है उसे रोकने में रूस की काबिलियत या नीयत पर इस तरह की घटनाएं संदेह डालती हैं. इस बीच सीरिया में संघर्ष विराम पर बातचीत की अटकलों के बीच संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत स्टेफान डे मिस्टूरा दमिश्क पहुंच गए हैं.

Related Posts:

एटमबम की धमकी
सोनिया के खिलाफ सिख विरोधी दंगों के मामले में फैसला सुरक्षित
मुल्ला अब्दुल मन्नान की चेतावनी: मतभेद जल्दी दूर नहीं किया तो तालिबान के बीच आंत...
इंडोनेशिया पहुंचे भारतीय राजनयिक, भारत आएगा छोटा राजन
पुतिन ने मोदी को भेंट किया बापू की डायरी का पन्ना
किम जोंग-नाम की हत्या में जहरीली रसायन का प्रयोग हुआ : मलेशिया