sehoreसीहोर, 18 जून. प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश आष्टा श्रीमती अलका दुबे ने गुरुवार को नाबालिग बालिका के साथ रेप करने वाले तीस वर्षीय युवक को फांसी की सजा और चार हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है.

तहसील मु यालय आष्टा में फांसी की सजा का यह पहला मामला है और जिले में फांसी की सजा का यह दूसरा मामला है इससे पहले सीहोर में अपनी मासूम बेटियों का कत्ल करने वाले पिता को फांसी की सजा सुनाई गई थी.

Related Posts: