arminderचंडीगढ़, लोकसभा में कांग्रेस के उप नेता और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य के उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के कांग्रेस पर कट्टरपंथी और राष्ट्र विरोधी ताकतों का समर्थन करने के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुये आज कहा कि वह अपनी विफलताओं को कांग्रेस के सिर मढ़ने का प्रयास कर रहे हैं।

कैप्टन सिंह ने यहां जारी एक बयान में कहा..हमें श्री बादल जैसे लोगों से देश प्रेम और राष्ट्रवाद की शिक्षा लेने की जरूरत नहीं है ,जिनके पिता और मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने खालिस्तान आंदोलन के दौरान देश के संविधान की प्रतियां जला दी थीं..।

उन्होंने कहा कि सुखबीर अपनी गलतियों और विफलताओं का दोष कांग्रेस पर मढ़ने का हताश प्रयास कर रहे हैं। कैप्टन सिंह ने कहा कि दोनों बादल पिता और पुत्र की बौखलाहट बढ़ना स्वभाविक है क्योंकि वह राज्य में कांग्रेस का प्रभाव बढ़ने और पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी की पदयात्रा को मिले समर्थन से परेशान हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री लोगों के बीच जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं क्योंकि उन्हें डर है कि लोग उनके साथ भी वैसा ही सलूक न कर दें जो वे उनके मंत्रियों के साथ कर रहे हैं।

अमृतसर में हुए सरबत खालसा को लेकर प्रतिक्रिया में कैप्टन सिंह ने कहा कि इस अवसर पर बड़ी संख्या में लोगों की मौजूदगी बादल सरकार के खिलाफ उनके आक्रोश को प्रदशित करती है। सरबत खालसा में कांग्रेसी नेताओं की मौजूदगी को लेकर उन्होंने कहा कि ये लोग इसमें एक सिख होने के नाते शामिल हुये जैसे कि अन्य राजनीतिक दलों के नेता भी इसमें मौजूद थे।

Related Posts: