लाहौर,

वेस्टइंडीज़ के स्टार ऑफ स्पिनर सुनील नारायण खेल से ज्यादा अपने गेंदबाज़ी एक्शन को लेकर सुर्खियों में रहते हैं और इस बार पाकिस्तान सुपर लीग(पीएसएल) ट्वंटी 20 टूर्नामेंट में संदिग्ध एक्शन को लेकर उनके खिलाफ शिकायत की गयी है।

लाहौर कलंदर्स और क्वेटा ग्लैडिएटर्स के बीच 14 मार्च को हुये पीएसएल मैच के दौरान सुनील के गेंदबाज़ी एक्शन की शिकायत दर्ज की गयी।ऐसे में अब इस लीग में भी उनके एक्शन की निगरानी की जाएगी।वह फिलहाल टूर्नामेंट में खेलना जारी रख सकते हैं लेकिन दोबारा आरोपी बनने पर उन्हें बैन झेलना पड़ सकता है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड(पीसीबी) सुनील के गेंदबाज़ी एक्शन पर रिपोर्ट अब क्रिकेट वेस्टइंडीज़(सीडब्ल्यूआई) को भेजेगा।

पीसीबी ने जारी अपने बयान में कहा“ नारायण को चेतावनी वाले खिलाड़ियों की सूची में डाल दिया गया है, लेकिन अभी अपनी टीम के लिये खेलना जारी रख सकते हैं।” पीएसएल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद(आईसीसी) के नियमों का पालन करता है और दोबारा उनकी शिकायत होने पर शेष टूर्नामेंट से उन्हें निलंबित कर दिया जाएगा।

सुनील की संदिग्ध गेंदबाज़ी एक्शन के कारण कई बार शिकायत की गयी है।वर्ष 2014 में चैंपियंस लीग, इंडियन प्रीमियर लीग, वर्ष 2015 में श्रीलंका में सीरीज़ के दौरान भी संदिग्ध एक्शन को लेकर निलंबन झेल चुके हैं।हालांकि गत माह सात अप्रैल से शुरू होने वाले आईपीएल में अब उनके खेलने को लेकर संदेह पैदा हो गया है।इस सत्र में आॅफ स्पिनर की फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइटराइडर्स ने दो ही खिलाड़ियों को रिटेन किया है जिसमें एक सुनील है।

Related Posts: