तीन साल से मेरे परिवार को किया जा रहा है परेशान, मौत पर सियासत बंद हो

नई दिल्ली,

सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई करने वाले सीबीआई जज बी.एच. लोया की संदिग्ध मौत के मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है. दिवंगत जज बीएच लोया के बेटे अनुज लोया ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि उनके पिता की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में नहीं हुई.

बता दें कि अनुज लोया का यह बयान ठीक तब सामने आया है जब सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस लोया की मौत की जांच की मांग वाली याचिका की सुनवाई करते हुए महाराष्ट्र सरकार को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है. इस मामले की सुनवाई मंगलवार को होने की उम्मीद है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में अनुज लोया के वकील ने कहा कि इस मामले को राजनीतिक रंग दिया जा रहा है, जिसकी जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि यह एक दुखद घटना थी और हम इस मुद्दे पर हो रही सियासत का शिकार नहीं होना चाहते हैं. उधर, दिवंगत लोया के बेटे अनुज ने कहा कि उनके परिवार को पिछले 3 साल से परेशान किया जा रहा है. उन्होंने अपील की कि आगे से इस मामले को लेकर उनके परिवार को परेशान न किया जाए.

चार पूर्व जज बोले – जुडिशरी के भीतर ही सुलझे मामला

सुप्रीम कोर्ट के एक पूर्व जज समेत 4 रिटायर्ड जजों ने रविवार को सीजेआई दीपक मिश्रा के नाम खुला खत लिखकर कहा कि वे सुप्रीम कोर्ट के 4 वरिष्ठ जजों के उठाए मुद्दों से सहमत हैं और इसे जुडिशरी के भीतर ही सुलझाने की जरूरत है.

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज पी.बी. सावंत, दिल्ली हाई कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस ए.पी. शाह. मद्रास हाई कोर्ट के पूर्व जज के. चंद्रू और बॉम्बे हाई कोर्ट के पूर्व जज एच. सुरेश ने सीजेआई को लिखे खुले खत को मीडिया में जारी किया. यह खुला खत सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया.

चीफ जस्टिस ने सकारात्मक भरोसा दिया : विकास सिंह

सुप्रीम संकट का जल्द ही समाधान निकलने की उम्मीद है. सुप्रीम कोर्ट बार असोसिएशन और बार काउंसिल ऑफ इंडिया इसको लेकर काफी सक्रिय हो गए हैं. इनके प्रतिनिधिमंडलों ने चीफ जस्टिस और अन्य जजों से मुलाकात कर मौजूदा संकट का हल निकालने की पहल की है.

सुप्रीम कोर्ट बार असोसिएशन के प्रेजिडेंट विकास सिंह ने बताया कि उनकी सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा से मुलाकात हुई है और चीफ जस्टिस ने सुप्रीम कोर्ट बार की ओर से दिए प्रस्ताव पर सकारात्मक तौर पर गौर करने का भरोसा दिया है.

चूंकि मुझे किसी पर शक नहीं इसलिए मुझे इस मामले में जांच की जरूरत ही नहीं है. उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई थी. उन्होंने कहा कि पिता की मौत को लेकर हमारा किसी पर आरोप नहीं है. कृपया वकील व एनजीओ हमारे परिवार को परेशान न करें.
-अनुज लोया, जज बीएच लोया के बेटे

Related Posts: