डीजी कांफ्रेंस में पीएम मोदी का आह्वान, बीएसएफ के 5 नए भवनों का किया लोकार्पण

  • महानिदेशकों से अलग-अलग चर्चा

विनय अग्रवाल
ग्वालियर,

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में आज देशभर के विभिन्न पैरा मिलेट्री फोर्स और राज्यों के पुलिस महानिदेशकों ने फोर्स में आधुनिक तकनीक के उपयोग के साथ ही बदलते समय के साथ बढ़ रहे अपराधों की सशक्त रोकथाम के लिए विचार विमर्श किया गया। स्वयं प्रधानमंत्री ने डीजी कान्फ्रेंस में मौजूद विभिन्न फोर्स के महानिदेशकों से समूह में अलग-अलग चर्चा भी की।

प्रधानमंत्री ने महानिदेशकों से विभिन्न बलों के जवानों के साझा प्रशिक्षण की बात भी की। उन्होंने टेकनपुर में बीएसएफ के नये पांच भवनों का भी लोकार्पण किया। ग्वालियर से लगभग 30 किलोमीटर दूर स्थित सीमा सुरक्षा बल अकादमी टेकनपुर के इस मुख्यालय में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज सुबह ही नई दिल्ली से ग्वालियर और फिर ग्वालियर से वायुसेना के हेलीकॉप्टर एमआई-8 से टेकनपुर पहुंचे। टेकनपुर में उनकी अगवानी केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह व बीएसएफ के महानिदेशक सहित अन्य अतिथियों ने की।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बीएसएफ अकादमी में आयोजित डीजी कॉन्फ्रेंस में सायबर क्राइम, आतंकवाद व सोशल मीडिया का समाज पर प्रभाव के अलावा पुलिस फोर्सों में आधुनिक तकनीक के उपयोग पर भी विशेषज्ञों की राय भी सुनी।

कई विशेषज्ञों ने प्रधानमंत्री के समक्ष आने वाले समय में नये अपराधों की चुनौतियां संबंधी विशय पर भी विस्तार से अपने पक्ष रखे। प्रधानमंत्री ने आज पूरा दिन डीजी कॉन्फ्रेंस को दिया। इस अवसर पर उनके सामने कई प्रजेन्टेशन भी दिये गये।

उन्होंने इस दौरान पुलिस फोर्स व पैरा मिलेट्री फोर्स में आधुनिक तकनीकों के इस्तेमाल की बात कही और क्रास बार्डर आतंकवाद का जिक्र भी किया। उन्होंने इसे रोकने के लिए और ज्यादा सक्रियता से कदम उठाये जाने की भी वकालत की।

उन्होंने साझा प्रशिक्षण पर भी जोर दिया, ताकि बलों के जवान एक दूसरे की काबिलियत से ज्यादा सीख सकें। उन्होंने बल के जवानों को मानसिक रूप से मजबूत बनाने के लिए उनके मनोविज्ञान को प्रशिक्षण से जोडऩे की भी बात कहीं।

कॉन्फ्रेंस में केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी अनिवार्य दक्षता विकास की बात की और इसे नियमित प्रशिक्षण से जोडऩे की बात भी कही। पूर्व में बीएसएफ के डायरेक्टर जनरल व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने अतिथियों का स्वागत बुके देकर किया। डीजी कान्फ्रेंस 8 जनवरी तक चलेगी। इसके उपरांत सायं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह नई दिल्ली रवाना हो जायेंगे।

डीजी कॉन्फ्रेंस में 9 घंटे रहे प्रधानमंत्री

डीजी कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री ने लगभग 9 घंटे दिये। उनकी पूरे समय की उपस्थिति को लेकर अधिकारी अचंभित थे। आज उन्होंने बीएसएफ अकादमी में बनी नई 5 बिल्डिंगों का भी शुभारंभ किया। इस मौके पर केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू, राष्ट्रीय सलाहकार अजीत डोभाल भी उपस्थित थे। कल भी दिनभर प्रधानमंत्री मोदी डीजी कॉन्फ्रेंस में रहेंगे और अपरान्ह समापन समारोह को संबोधित करेंगे। वह कुछ आईपीएस अधिकारियों से भी चर्चा करेंगे।

Related Posts:

सोनिया तय करेगी राष्ट्रपति कौन!
अब बिजली के इंजन से चलेंगी मालवा व नर्मदा
सेवा के प्रति समर्पित रहें कार्यकर्ता: रामलाल
राहुल और बुद्धदेव ने एक मंच से किया ममता सरकार को हराने का आह्वान
जिंदा जलीं माँ सहित दो बेटियाँ, मकान में लगी आग, आग लगने से छप्पर ऊपर आ गिरा था
शिवपुरी में घर के अंदर हो रही थी गांजे की खेती, एक लाख रुपए के पौधे बरामद