sushilनयी दिल्ली,  भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) को भारतीय कुश्ती महासंघ की रियो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाले पहलवानों की भेजी गयी सूची में दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार का नाम नहीं है जिससे यह माना जा रहा है कि वह ओलंपिक से बाहर हो गये हैं।

सुशील का ओलंपिक में वजन वर्ग 74 किग्रा है और इस वजन वर्ग में महाराष्ट्र के नरसिंह यादव ने गत वर्ष लास वेगास में हुयी विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतकर देश को ओलंपिक कोटा दिलाया था। नरसिंह के ओलंपिक कोटा जीतने के बाद से ही यह कयास चल रहे थे कि उनके और सुशील के बीच ट्रायल होगा और जीतने वाला पहलवान रियो ओलंपिक जायेगा। महासंघ के मुख्यालय में बुधवार को हुयी एक बैठक में महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने ट्रायल को लेकर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया था।

एक दैनिक अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, कुश्ती महासंघ ने आईओए को ओलंपिक के लिये पहलवानों की जो सूची भेजी है, उसमें सुशील का नाम नहीं है। ऐसे में माना जा रहा है कि सुशील रियो ओलंपिक से बाहर हो गये हैं। इस बीच सुशील के गुरू महाबली सतपाल ने उस खबर पर हैरानी जताते हुये कहा है कि बिना ट्रायल कराये ऐसे कोई फैसला कैसे लिया जा सकता है।

उन्होंने कहा, “यह बड़े अफसोस की बात होगी यदि सुशील ओलंपिक से बाहर होते हैं। वह दो बार सरकार के खर्चे पर ट्रेनिंग के लिये जार्जिया गये और हाल में एक महीने की ट्रेनिंग करके लौटे हैं।” द्रोणाचार्य अवार्डी महाबली सतपाल ने नाराजगी के साथ कहा, “फेडरेशन बिना ट्रायल कराये ऐसे सूची कैसे भेज सकती है। हम खेल मंत्री सर्वानंद सोनोवाल से मिलकर ऐसे फैसले पर विरोध व्यक्त करेंगे और उनसे ट्रायल कराने के लिये कहेंगे।”