मुंबई,  वैश्विक बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच लगातार चौथे दिन घरेलू स्तर पर हुई लिवाली से आज एक महीने बाद सेंसेक्स दुबारा 32 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार निकल गया।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 0.87 प्रतिशत यानी 276.50 अंक चढ़कर 07 अगस्त के बाद के उच्चतम स्तर 32,158.66 अंक पर बंद हुआ। बाजार की तेजी में मुख्य योगदान रियलिटी, स्वास्थ्य और तेल एवं गैस क्षेत्र की कंपनियों का रहा।

चौतरफा लिवाली के बीच नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 0.87 प्रतिशत यानी 87 अंक की मजबूती के साथ 01 अगस्त के बाद के उच्चतम स्तर 10,093.05 अंक पर रहा।

अमेरिका में आये इरमा तूफान के कमजोर पड़ने और उत्तर कोरिया को लेकर भू-राजनैतिक तनाव कम होने से दुनिया भर के शेयर बाजारों में तेजी रही। सेंसेक्स 146.99 अंक की बढ़त में 32,029.15 अंक पर खुला। हालाँकि, आरंभिक कारोबार में एक समय यह 32 हजार अंक से नीचे 31,950.24 अंक के दिवस के निचले स्तर तक भी उतरा, लेकिन इसके बाद इसने पीछे मुड़कर नहीं देखा। लगातार चढ़ता हुआ कारोबार की समाप्ति से पहले 32,172.46 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूता हुआ यह गत दिवस के मुकाबले 276.50 अंक ऊपर 32,158.66 अंक पर रहा।

निफ्टी 50.80 अंक की बढ़त में 10,056.85 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 10,028.05 अंक के दिवस के निचले और 10,097.55 अंक के उच्चतम स्तर से होता हुआ यह गत दिवस के मुकाबले 87 अंक ऊपर 10,093.05 अंक पर बंद हुआ।

बीएसई में कुल 2,758 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,455 में तेजी और 1,146 में गिरावट रही जबकि 157 के शेयरों के दाम अपरिवर्तित रहे। मझौली और छोटी कंपनियों में ज्यादा तेजी रही। बीएसई का मिडकैप 1.08 प्रतिशत चढ़कर 16,037.09 अंक पर और स्मॉलकैप 1.01 प्रतिशत की तेजी के साथ 16,617.84 अंक पर बंद हुआ।

Related Posts: