sensexमुंबई. 5 दिनों की गिरावट पर ब्रेक लगाने के बाद कल बाजार में तेजी देखने को मिली थी। आज भी बाजार ने कल की तेजी को आगे बढ़ाने की कोशिश की और घरेलू शेयर बाजारों में अच्छी शुरुआत देखने को मिली थी। लेकिन बढ़त दिखाने वाले बाजार में आज तेजी टिक नहीं पाई। और, अंत में सेंसेक्स-निफ्टी 0.5 फीसदी तक गिरकर बंद हुए हैं।

बाजार में आज भी उतार-चढ़ाव देखने को मिला। सेंसेक्स ने आज 28088 का ऊपरी स्तर छूआ था, तो निफ्टी 8500 के पार जाने में कामयाब हुआ था। लेकिन कमजोरी हावी हुई तो सेंसेक्स 27621.18 तक टूटा, तो निफ्टी ने 8361.85 तक गोता लगाया।

दरअसल, बाजार में मैट को लेकर चिंता बरकरार है, तो इंफोसिस के कमजोर नतीजों की आशंका से भी दबाव बना है। निफ्टी में 8500 पर बड़ा रेजिस्टेंस नजर आ रहा है। तेजी करने वाले मंदडिय़ों के आगे झुक गए, लेकिन तेजी करने वालों को जीएसटी के संसद में पेश होने का इंतजार है। एफआईआई के कमजोर आंकड़ों से भी बाजार में दबाव है। बाजार से खरीदार गायब हो गए हैं और केवल शॉर्टकवरिंग का सहारा दिख रहा है। रुपये की चिंता और नतीजों की फिक्र से भी बाजार कमजोर हुआ है।

हालांकि मिडकैप शेयरों में आज खरीदारी का रुझान नजर आया। बीएसई मिडकैप इंडेक्स 0.5 फीसदी बढ़कर 10600 के ऊपर बंद हुआ है। लेकिन स्मॉलकैप शेयरों की चाल सुस्त रही। बीएसई स्मॉलकैप इंडेक्स करीब 0.25 फीसदी गिरकर 11300 के करीब बंद हुआ है।

आज कैपिटल गुड्स, रियल्टी, फार्मा, ऑटो, पावर और ऑयल एंड गैस शेयरों की पिटाई हुई है। हालांकि मेटल और कंज्यूमर ड्युरेबल्स शेयरों में अच्छी खरीदारी देखने को मिली है। बीएसई के मेटल और कंज्यूमर ड्युरेबल्स इंडेक्स में क्रमश: 1.5 फीसदी और 1 फीसदी की मजबूती दर्ज की गई है।
बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 155 अंक यानि 0.6 फीसदी की गिरावट के साथ 27735 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 31 अंक यानि 0.4 फीसदी की कमजोरी के साथ 8398 के स्तर पर बंद हुआ है।

आज के कारोबारी सत्र में दिग्गज शेयरों में सन फार्मा, एसीसी, टेक महिंद्रा, अल्ट्राटेक सीमेंट, केर्न इंडिया, एसबीआई, टाटा मोटर्स, एनटीपीसी और विप्रो सबसे ज्यादा 2.7-1.75 फीसदी तक गिरकर बंद हुए हैं। हालांकि यस बैंक, टाटा स्टील, एचसीएल टेक, जी एंटरटेनमेंट, इंडसइंड बैंक, कोल इंडिया, मारुति सुजुकी, बीएचईएल और सिप्ला जैसे दिग्गज शेयर 6.9-0.9 फीसदी तक मजबूत होकर बंद हुए हैं।

मिडकैप शेयरों में स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, चेन्नई पेट्रो, केआरबीएल, आईएलएंडएफएस ट्रांसपोर्ट और इंडोको रेमेडीज सबसे ज्यादा 11.4-4.3 फीसदी तक उछलकर बंद हुए हैं। हालांकि मिडकैप शेयरों में सेरा सैनिटरी, क्लैरिएंट, गुजरात पिपावाव, सद्भाव इंजीनियरिंग और ट्रेंट सबसे ज्यादा 16-4.5 फीसदी तक टूटकर बंद हुए हैं।

Related Posts: