sensexमुंबई,  देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक में उसकी पाँच अनुषंगी इकाइयों के विलय को मंजूरी मिलने से उत्साहित निवेशकों की मजबूत लिवाली की बदौलत आज शेयर बाजार पिछले चार दिन की गिरावट से उबरते हुये सवा फीसदी की बढत पर बंद हुआ।

बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स करीब तीन सप्ताह की एक दिन की सबसे बड़ी 330.63 अंक (1.25 फीसदी) की तेजी के साथ 09 जून के उच्चतम स्तर 26726.34 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 97.75 अंक उछलकर 8200 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार करते हुये 8206.60 अंक पर रहा। सेंसेक्स की 25 कंपनियों में तेजी और शेष पाँच में गिरावट रही।
मंत्रिमंडल ने एसबीआई में उसकी पाँच अनुषंगी इकाइयों स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर और स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद तथा भारतीय महिला बैंक के विलय को आज मंजूरी दे दी। इससे एसबीआई के शेयर करीब चार फीसदी तक चढ़ गये, जो शेयर बाजार के लिए सकारात्मक रहा। इसके अलावा हीरो मोटोकॉर्प, मारुति, भारती एयरटेल, एलएंडटी और एनटीपीसी की 3.88 फीसदी तक की तेजी से बाजार को समर्थन मिला।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 105.08 अंक की मजबूती के साथ 26500.79 अंक पर खुला लेकिन कुछ देर बाद ही 26446.59 अंक के न्यूनतम स्तर पर आ गया। लिवाली होने से यह लगातार बढ़ते हुये अंतिम कारोबारी घंटे में 26752.59 अंक के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया। अंत में पिछले दिवस के 26395.71 अंक के मुकाबले 330.63 अंक की छलाँग लगाकर 26726.34 अंक पर रहा। बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप भी 0.58 और 0.80 फीसदी उछलकर क्रमश: 11406.70 और 11464.13 अंक पर रहे।

निफ्टी भी 30.55 अंक बढ़कर 8139.40 अंक पर खुला। हालाँकि थोड़ी देर बाद ही यह 8123.15 अंक के निचले स्तर पर आ गया। लिवाली की बदौलत यह अाखिरी कारोबारी घंटे में यह 8213.20 अंक के उच्चतम स्तर को छूने में सफल रहा। अंत में गत दिवस के 8108.85 अंक की तुलना में 97.75 अंक चढ़कर 09 जूून के बाद 8200 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 8206.60 अंक पर बंद हुआ।

इस दौरान बीएसई के सभी 20 समूहों में तेजी का रुख रहा। पूँजीगत वस्तुयें समूह में सर्वाधिक 2.26 फीसदी की बढ़त रही। इसके अलावा बेसिक मैटेरियल्स, वित्त, इंडस्ट्रियल्स, यूटिलिटीज, बैंकिंग, तेल एवं गैस और पावर समूह के शेयर भी 1.99 फीसदी तक चढ़े। बीएसई में कुल 2804 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1674 में लिवाली और 954 में बिकवाली हुई जबकि 176 में कोई बदलाव नहीं हुआ।

Related Posts: