fireनयी दिल्ली,  महाराष्ट्र में वर्धा जिले के पुलगांव क्षेत्र में स्थित सेना के एक शस्त्र भंडार में आग लगने से दो अधिकारियाें और रक्षा सुरक्षा कोर के 15 जवानों की मौत हो गई जबकि दो अधिकारी एवं 17 जवान घायल हो गये।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हादसे पर दुख जताते हुए रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को घटनास्थल जाने का निर्देश दिया है। श्री मोदी ने प्रभावित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। रक्षा सूत्रों के अनुसार श्री पर्रिकर एवं सेना अध्यक्ष जनरल दलबीर सिंह सुहाग नागपुर रवाना हो गये हैं जहां से वे हेलीकॉप्टर में पुलगांव पहुँचेंगे।

सेना के अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि यह हादसा कल देर रात लगभग डेढ़ बजे के करीब पुलगांव के केन्द्रीय आयुध भंडार में गोला बारुद के एक शेड में आग लगने से हुआ। हादसे में दो अधिकारी एवं 15वीं रक्षा सुरक्षा कोर के 15 जवान शहीद हो गये जबकि दो अधिकारी एवं 17वीं रक्षा सुरक्षा कोर के 17 जवान घायल हुए हैं। घायलों को समीप के सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सूत्रों के अनुसार मृतकों की पहचान लेफ्टिनेंट कर्नल आर एस पवार और मेजर के. मनोज के रूप में हुई है। घायल हुए सैनिकों में कई की स्थिति गंभीर है और मृतकों की संख्या बढने की आशंका है

उन्हाेंने बताया कि एक शेड में लगी आग पर काबू पा लिया गया है हालांकि सूत्रों ने आगे भी विस्फोट होने की आशंका से इन्कार नहीं किया है। घटनास्थल पर सेना के वरिष्ठ अधिकारी पहुंच चुके है। सूत्रों के मुताबिक दुर्घटना के समय वहां लगभग 70 लोग मौजूद थे जिसमें से ज्यादातर रक्षा सुरक्षा कोर के जवान थे।

सूत्रों के अनुसार रक्षा मंत्री ने भी सेना मुख्यालय को इस मामले की विस्तृत रिपोर्ट देने का आदेश दिया है। जबकि सेना ने मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी)के गठन के साथ साथ कोर्ट आॅफ इनक्वायरी का भी आदेश दिया है।

पुलगांव केन्द्रीय आयुध भंडार सेना के बड़े आयुध भंडारों में से एक है जहां आयुध कारखाना चांदा और बोलंगीर में निर्मित गोला बारूद का भंडारण किया जाता है।
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस घटना में सैनिकों की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है।

Related Posts: