24as17भोपाल,24 अप्रैल,नभासं. शुक्र्रवार सबेरे केंद्रीय विद्यालय क्रमांक-1 की बस और सांची दूध के टैंकर के बीच इतनी जोरदार भिडंत हुई की हादसे में बस के गेट से कक्षा 5 की एक बच्ची बाहर जा गिरी और बस के पहिए की चपेट में आने से उसकी जान चली गई. जबकि एक अन्य बच्ची खिड़की से बाहर गिर कर गंभीर रूप से घायल हो गई.

यह घटना शुक्रवार सुबह करीब 7 बजे डीबी माल के सामने की है. यह बस ऊपर की ओर चढ़ रही थी जबकि टेंकर पीछे से आ रहा था. हादसे में बच्ची वैदिका सरयाम की घटना स्थल पर ही मौत हो गई. उसका सिर फट गया था. इसमें बस का ड्राइवर, कंडक्टर और कई अन्य बच्चे भी घायल हुए हैं.

घायलों का उपचार हो रहा
घायलों का 1250 स्थित जेपी और एमपी नगर के सिटी हास्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई. हालांकि 5वीं की ही एक अन्य छात्रा अन्वेषा बघेल का सिटी अस्पताल में इलाज अभी भी चल रहा है. वह भी खिड़की से नीचे गिर गई थी. उसके भी सिर पर चोट आई है.

अवधपुरी से आ रही थी बस
स्कूल की बस अवधपुरी से बच्चों को लेकर आ रही थी. वहीं टैंकर सांची दुग्ध संघ से दूध लेकर सप्लाई करने के बाद वापस लौट रहा था. लेकिन डीबी माल के पास दोनों वाहनों में जोरदार टक्कर हो गई. पहले टैंकर का ड्राइवर भागने की फिराक में था,लेकिन उसे स्कूल के ही अन्य लोगों व पुलिस की मदद से श्यामला हिल्स के पास पकड़ लिया गया.

गेट के पास की सीट पर थी बच्ची
वैदिका बस में गेट के पास की सीट पर बैठी हुई थी. टक्कर से वह उछलकर गेट से बाहर गिरी. नीचे गिरने से उसका सिर फट गया जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई. टैंकर चालक ने जब यह देखा, तो उसने तेजी से टैंकर भगा दिया. बाद में पुलिस ने टैंकर को श्यामला हिल्स के पास से पकड़ा और उसे एमपी नगर थाने ले आई.

मां की हालत बिगड़ी
मासूम बेदिका की मौत की खबर सुनने के बाद से ही उसकी मां की हालत बिगड़ गई. वह लंबे समय तक बेहोश रही. घर पर परिजनों-रिश्तेदारों व पड़ोसियों का तांता लगा रहा. सभी उन्हें संभालने में जुटे रहे.

पिता जेल विभाग में हैं
वैदिका के पिता सुधीर सरयाम, जेल विभाग में यूडीसी का काम करते हैं. सुधीर के पिता जेल अधीक्षक रहे हैं. उनके स्थान पर उन्हें अनुकंपा नियुक्ति मिली थी.

अनुष्का क ीे अस्पताल से छुट्टी
घटना में घायल दूसरी मासूम अनुष्का को करीब 11:15 पर अस्पताल से छुटटी दी गई. परिजन उसे लेकर सीधे घर चले गएं. मासूम अपनी सहेली की आंखों के सामने हुई मौत से सदमे में है. वह सहमी हुई है, किसी से भी हादसे के बारे में बात करने को तैयार नहीं है.

टेंकर चालक को खरोंच भी नहीं
घटना में बस चालक को मामूली चोटें आई हैं. जबकि टेंकर वाले को एक खरोंच भी नहीं आई. पुलिस ने दोनों वाहन जब्त कर थाने में खड़े कर लिए हैं. साथ ही दोनों वाहन चालकों को भी हिरासत में ले लिया है.

Related Posts: