भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन की बोर्ड बैठक में मंजूरी

  • स्टार्टअप का हब बनेगा भोपाल

भोपाल,

राजधानी अब युवाओं के आईडियाज का स्टार्टअप हब बनेगी. इसके लिए भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरशन लिमिटेड,बीएससीडीसीएल द्वारा बनाए जा रहे इंक्यूबेशन सेंटर बी-नेस्ट को अब एक अलग कंपनी का दर्जा मिलेगा.

बीएससीडीसीएल के बोर्ड ने इंक्यूबेशन सेंटर को कंपनी बनाने का फैसला लिया है. इससे बी-नेस्ट इंक्यूबेशन सेंटर और अधिक पारदर्र्शी व छात्रों को अधिक सब्सिडी युक्त सुविधाएं देने में पूरी तरह स्वतंत्र हो जाएगा.

बीएससीडीसीएल की बोर्ड बैठक गुरुवार को कलेक्टर व कंपनी चेयरमैन सुदाम खाडे की अध्यक्षता में हुई. बैठक में कंपनी ईडी प्रियंका दास, सीईओ चंद्रमौलि शुक्ला, संचालक मंजू शर्मा, संचालक जर्नादन प्रसाद,एके पालीवाल आदि मौजूद थे.

बैठक में प्रस्ताव रख गया कि इंक्यूबेशन सेंटर को अलग कंपनी बनाया जाए. इससे सेंटर को सब्सिडी और अन्य सुविधाएं शासन व अन्य विभागों से भी मिलने लगेंगी. कंपनी का नाम बी-नेस्ट होगा. यह कंपनी युवाओं के आईडियाज को स्टार्टअप में तब्दील करने में मदद करेगी.

इसमें आइडिया को प्राडेक्ट बनाने, पेटेंट करने, वित्तीय संबंधी सलाह और अन्य कार्य होंगे. इस प्रस्ताव को बोर्ड सदस्यों ने हरी झंडी दे दी है. इसके अलावा बैठक में बीडीए की महालक्ष्मी परिसर स्मार्ट सिटी को देने पर भी सैद्धांतिक मंजूरी हो गई है. इस मामले में अब शासन से मंजूरी ली जाएगी.

इस परिसर को शासकीय आवास के रूप में विकसित किया जाएगा. इसके साथ ही बीडीए के नवनियुक्त सीईओ बुद्धेश वैधय को बीएससीडीसीएल के बोर्ड में संचालक नियुक्त करने किया गया. वे पूर्व संचालक नीरज वशिष्ठ के स्थान पर संचालक बनाए गए हैं.

स्टार्टअप के 40 और हैकातोन के लिए 350 आवेदन

बीएससीडीसीएल के एक्यूबेशन सेंटर बी-नेस्ट में स्टार्टअप करने के लिए अभी तक 40 युवाओं ने आवेदन किए हैं. बीएससीडीसीएल द्वारा 21 और 22 अप्रैल को आयोजित होने वाले हैकातोन के लिए अभी तक 340 युवाओं ने आवेदन किए हैं. इस हैकातोन में 48 घंटे में अपने आइडिया को युवाओं को डेपलप करना होगा. सर्वश्रेरूठ आइडिया को 1 लाख 75 हजार रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा. एक्यूबेशन सेंटर में स्टार्टअप को चयनित करने के लिए विशेषेज्ञों की टीम बनाई गई है.

Related Posts: