modi2जहानाबाद/भभुआ,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को जहानाबाद और भभुआ में आयोजित परिवर्तन रैलियों में जेपी को याद करते हुए लालू और नीतीश पर जमकर हमला बोला। उन्होंने बिहार सरकार के एक मंत्री (अवधेश कुशवाहा)के घूस लेते स्टिंग में फंसने पर तंज कसते हुए कहा कि चार लाख लाख रुपए में जेपी के सपनों को बेच दिया गया। यह सब उनकी जयंती के दिन ही हुआ। ऐसा अपमान उनका कभी नहीं हुआ होगा। जेपी का महज एक ही गुनाह था कि वे भ्रष्टाचार के खिलाफ देश को तैयार कर रहे थे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का नाम लिए बगैर कहा कि जब से उन्होंने नया जोड़ीदार ढूंढ (लालू यादव)लिया है तब से उनके कारनामे बदलने लगे हैं। उन्होंने कहा कि जब पूरा हिन्दुस्तान जेपी की जयंती भ्रष्टाचार के खिलाफ संकल्प के रूप में मना रहा था तब उनके चेले चार लाख रुपए घूस लेते पकड़े गए।

श्री मोदी ने भीड़ से सवाल किया कि खुद को उनका चेला बताने वाले लोगों ने जेपी की जयंती कैसे मनाई? जेपी को अगर सच्ची श्रद्धांजलि देनी है तो चुन-चुनकर ऐसे लोगों को साफ करें। यदि सरकार में रहते हुए ऐसे बोली लगाई जाएगी तो बिहार के लोग कैसे खुशहाल होंगे। जब तक भाजपा सत्ता में शामिल थी भ्रष्टाचार की एक भी घटना नहीं हुई। इसलिए जनता सोच समझकर वोट करे।
1975 में हुई थी लोकतंत्र की हत्या

मोदी ने कहा कि 1975 में लोकतंत्र की हत्या हुई थी। भ्रष्टाचार के खिलाफ जनआंदोलन करने पर जयप्रकाश नारायण को जेल में बंद कर दिया गया था। उनके चेले आज कांग्रेस के साथ ही मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। यह जेपी का अपमान है या नहीं ? उन्होंने कहा कि जनता जेपी के अपमान का बदला लेगी कि नहीं। उन्होंने हाथ उठाकर जनता से हामी भराई।

हम चाहते हैं विकास, वे चाहते हैं हमारा विनाश
श्री मोदी ने पूछा कि मोदी का विनाश क्या चुनावी मुद्दा हो सकता है। हम विकास के लिए वोट मांग रहे हैं। लालू और नीतीश की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि वे कहते हैं हम मोदी का विनाश करके रहेंगे। फैसला आपको करना है कि विकास के लिए वोट करेंगे या मोदी के विनाश के लिए। लोकतंत्र किसी को खत्म करने के लिए नहीं होता। उन्होंने लोगों को आह्वान का कि जीतन राम मांझी के साथ हुए अन्याय का बदला वोट देकर लें।

जगदेव के हत्यारों के साथ क्यों खड़े हैं लालू-नीतीश
शहीद जगदेव को याद करते हुए कहा कि मंत्री रहते उनकी हत्या कर दी गई थी। वंचितों के लिए जीवन खपाने वाले जगदेव बाबू की कैसे हत्या हुई अभी तक पता नहीं चला। फिर उन्होंने कहा कि गरीबों की आवाज शहीद जगदेव की हत्या करने वाली कांग्रेस के साथ आखिर लालू और नीतीश क्यों खड़े हैं।

केन्द्र के भेजे पैसे का नहीं मिलता हिसाब
केन्द्र से बिहार के विकास के लिए पैसे भेजे जाते हैं। लेकिन उसका हिसाब भी नहीं दिया जाता। पैसे बैंक में प?े रहते हैं। यह ऐसी सरकार है कि कुछ भी नहीं पाएगी। उन्होंने बिहार में जल संसाधन की प्रचुरता का जिक्र करते हुए कहा कि इतनी नदियां होने के बावजूद किसानों के खेत तक पानी नहीं पहुंचता।

कहीं बा? से लोग ग्रस्त रहते हैं तो कहीं सुखा? से। अगर बेहतर जल प्रबंधन होता तो यह पानी किसान की ताकत बनता। हम बिहार को हिन्दुस्तान की सबसे ब?ी ताकत बनाना चाहते हैं। उन्होंने सूबे के विकास के लिए दो तिहाई बहुमत से एनडीए को समर्थन देने का आह्वान लोगों से किया।