वाशिंगटन,

वैश्विक व्यापार युद्ध की संभावना को हवा देते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने स्टील और अल्युमिनियम पर आयात शुल्क लगाने के आदेश कर हस्ताक्षर कर दिये हैं।

अपनी पार्टी और वैश्विक मंच पर कड़ी आलोचना झेलने के बावजूद श्री ट्रंप ने गुरुवार को इस आदेश पर हस्ताक्षर किये।हालांकि उन्होंने कुछ कनाडा और मेक्सिको को इससे राहत दी है और इस छूट का दायरा बढाने के संकेत भी दिये हैं।

श्री ट्रंप का कहना है कि वह उन मित्र राष्ट्रों को भी छूट देने पर विचार कर सकते हैं, जो अमेरिका के साथ अपनी व्यापार नीति में बदलाव लाने को तैयार हैं।यह शुल्क 15 दिन के बाद प्रभावी हो जायेगा।इसके तहत आयातित स्टील पर 25 प्रतिशत और अल्युमिनियम पर 10 प्रतिशत शुल्क लगेगा।

श्री ट्रंप ने आयात शुल्क संबंधी सभी विशेषाधिकार अपने पास रखते हुए कहा कि उनके पास यह अधिकार है कि वह देश के अनुसार छूट दर घटायें, बढायें या देशों को छूट के दायरे में लायें या बाहर रखें।उन्होंने कहा कि हम बहुत स्पष्ट होंगे आैर लचीले भी रहेंगे लेकिन हम अमेरिकी कामगारों के हितों की रक्षा करेंगे।

अमेरिका के इस कदम से चीन के साथ-साथ भारतीय कारोबार पर भी बुरा असर पड़ेगा।अमेरिका की रिपब्लिकन पार्टी का मानना है कि श्री ट्रंप के इस कदम से अमेरिकी नागरिकों पर बोझ बढ़ेगा क्योंकि इससे स्टील और अल्युमिनियम के दाम बढ़ेंगे।अमेरिका की रंसरक्षणवादी नीति के विरोध में कल 11 प्रशांत देशों के प्रतिनिधि चिली के सैनटियागो में मिले और आयात शुल्क कम करने का अपना अलग समझौता किया।

Related Posts: