bpl1भोपाल,  सेंटर फॉर रिसोर्सेज डेवलपेंट स्टडीज द्वारा पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संस्था के तत्वाधान में दो दिवसीय राष्टï्रीय सेमिनार का आयोजन किया गया.

सेमिनार का मुख्य विषय भारत में सार्वजनिक क्षेत्र की परियोजनाओं का ईआईए के संदर्भ में था. कार्यक्रम के प्रारंभ में संस्था की अध्यक्ष डॉ. नीता सिंह ने स्वागत भाषण पढ़ा. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रधान मुख्य वन संरक्षक नरेन्द्र कुमार सिंह थे. इस अवसर पर निदेशक मनरेगा आलोक कुमार भी उपस्थित थे.

निदेशक आलोक कुमार ने कहा कि राजनीति और व्यावसायिक हित के बीच में पर्यावरण संतुलन स्थापित नहीं हो पा रहा है. उन्होंने उत्तर प्रदेशमें राजमार्ग निर्माण और गंगा एक्सप्रेस वे पर हितों के मतभेद की बात भी कही. मुख्य अतिथि नरेन्द्र कुमार सिंह ने ईआईए की रिपोर्ट में हो रही गलतियों और व्यावसायिक हितों की बात कही. पर्यावरण विधि विशेषज्ञ ओम शंकर श्रीवास्तव ने ईआईए की प्रक्रिया एवं विधि संबंधित जानकारी दी. उन्होंने कहा कि आर्थिक हितों के चलते कई बार पर्यावरण की अनदेखी हो जाती है. कार्यक्रम का संचालन डॉ. अनुपमा रावत ने किया .

Related Posts:

अग्नि-5 के दायरे में होगी आधी दुनिया
थल सेना प्रमुख का मुख्य ध्यान घुसपैठ रोकने के प्रयासों पर
देश के हर कोने में उपस्थित है भाजपा : नायडू
व्हाट्सऐप पर प्रतिबंध संबंधी याचिका खारिज
अरुणाचल संकट : केंद्र को झटका, बहाल होगी टुकी सरकार
द्रमुक प्रायोजित बंद का कावेरी डेल्टा जिलों में व्यापक असर, स्टालिन हिरासत में