मेलबोर्न,

प्रतिबंधित पूर्व कप्तान स्टीवन स्मिथ अौर बल्लेबाज़ कैमरन बेनक्राफ्ट ने बॉल टेम्परिंग मामले में दोषी पाये जाने के बाद क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) के एक वर्ष के प्रतिबंध को स्वीकार करते हुये इसके खिलाफ अपील नहीं करने का फैसला किया है।

दक्षिण अफ्रीका सीरीज़ के तीसरे केपटाउन टेस्ट में स्मिथ को गेंद के साथ छेड़छाड़ का दोषी पाया गया था।सीए ने इस मामले में जांच के बाद स्मिथ और उपकप्तान डेविड वार्नर पर एक एक वर्ष का प्रतिबंध लगा दिया था।बल्लेबाज़ कैमरन बेनक्राफ्ट पर भी नौ महीने का बैन लगाया गया है।

तीनों खिलाड़ियों के पास इस फैसले के खिलाफ अपील करने की आखिरी समय सीमा गुरूवार तक थी।
लेकिन स्मिथ और बेनक्राफ्ट ने बुधवार को साफ किया कि वह आस्ट्रेलियाई बोर्ड के फैसले को स्वीकार करते हैं।स्मिथ ने ट्विटर पर लिखा“ मैं अपने देश का दोबारा प्रतिनिधित्व करने के लिये सबकुछ करने को तैयार हूं।मैं बतौर कप्तान अपने अपराध की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं।”

पूर्व कप्तान ने कहा“ मैंने फैसला किया है कि अपने प्रतिबंध के खिलाफ अपील नहीं करूंगा।यह प्रतिबंध सीए ने एक कड़ा संदेश देने के मकसद से लगाया है और मैंने इसे स्वीकार कर लिया है।” स्मिथ पर सीए के प्रतिबंध के बाद उन्हें इंडियन प्रीमियर लीग से भी बाहर कर दिया गया था जहां वह राजस्थान रॉयल्स के कप्तान थे।वहीं स्मिथ अब अगले दो वर्ष जबकि वार्नर आस्ट्रेलिया के लिये खेलने तक कभी टीम के कप्तान नहीं बन सकेंगे।

स्मिथ के ट्वीट के कुछ देर बाद ही बेनक्राफ्ट ने भी अपने ऊपर लगाये गये नौ माह के प्रतिबंध को स्वीकार कर लिया।उन्होंने कहा“ मैंने आज क्रिकेट आस्ट्रेलिया को अपने दस्तावेज़ सौंप दिये हैं और मैं उनके द्वारा लगाये गये प्रतिबंध को स्वीकार करता हूं।मैं आस्ट्रेलियाई लोगों के विश्वास को जीतने के लिये सबकुछ करूंगा।मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं जिन्हाेंने मेरा समर्थन किया है।”

Related Posts: