swamyनयी दिल्ली, 02 जुलाई. उच्चतम न्यायालय ने कथित तौर पर नफरत फैलाने वाले बयान के मामले में भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी के खिलाफ जारी गैर-जमानती गिरफ्तारी वारंट (एनबीडब्ल्यू) के अमल पर आज रोक लगा दी. न्यायमूर्ति रंजन गोगोई और न्यायमर्ति एम वाई इकबाल की खंडपीठ ने भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के तहत नफरत फैलाने वाले भाषण या बयान से संबंधित दंडात्मक प्रावधानों की संवैधानिकता वैधता पर विचार करने की सहमति भी जता दी.

 

Related Posts: