bpl1भोपाल,   न्यू बहुउद्ïदेशीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ द्वारा अपनी 2 सूत्रीय मांगों को लेकर शाहजहांनी पार्क में चौथे दिन उज्जैन संभाग के एमपीडब्ल्यू एएनएम मलेरिया वर्कर, संविदा एएनएम, महिला एवं पुरुष सुपरवाईजर, बीईई मलेरिया इंस्पेक्टर, धरने पर बैठे और नारेबाजी करते हुये शासन का ध्यान आकृष्ट कराते रहे.

संघ के प्रांताध्यक्ष रामकिशोर सिंह भदौरिया ने बताया कि हमारी वर्षों से लंबित मांगों जिनमें बहुउद्ïदेशीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता कर्मचारी संवर्ग की वेतन विसंगति जो (1983 चौधरी वेतनमान से) हुई में सुधार कर हमें सम्मानजनक वेतनमान एवं संविदा एएनएम, मलेरिया वर्कर, एमपीडब्ल्यू को नियमित किये जाने की प्रमुख मांग है.

आयोजन समिति के प्रदेश अध्यक्ष अशोक पटैरिया ने बताया कि 19 सितंबर 2013 को स्वास्थ्य संचालक पी.एन.एस. चौहान द्वारा लिखित आश्वासन दिया गया था कि वेतन विसंगति दूर कर दी जायेगी, परन्तु आज तक कोई पहल नहीं हुई, जिसका परिणाम यह आन्दोलन है. समिति के समन्वयक राजेश शर्मा ने बताया कि हमारा धरना प्रदर्शन 7 मार्च तक जारी है.

यदि शासन हमारी मांग पूरी नहीं करता है, तो 8 मार्च को निर्णायक आक्रोश रैली भोपाल में प्रदेश के स्वास्थ्य कार्यकर्ता कर्मचारी करेंगे और मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौपेंगे. वही संघ के प्रांतीय संयोजक ओ.पी. एस. राजपूत, संरक्षक कल्याण सिंह का कहना है कि हम ग्रामीण अंचलों में स्वास्थ्य विभाग की सम्पूर्ण योजनाओं का संपादन करते हैं. स्वास्थ्य विभाग की रीढ़ कहे जाने वाले इस संवर्ग की अनदेखी सरकार जानबूझकर कर रही है. अत: 9 मार्च से अनिश्चितकालीन
हड़ताल करके हम अपनी मांगे मनवाने के लिये मजबूर हैं.

Related Posts: