1as13भोपाल,  ड्रायवर-कंडक्टर की हड़ताल का राजधानी में असर दिखाई दिया. अभिभावक बच्चों को स्कूल छोडऩे गये. वहीं दोपहर के समय छात्र-छात्राओं को स्कूल से वापस लेने उनकी माताएं पहुंचीं.

सुबह के समय कुछ बसें जब छात्रों को लेकर जा रही थीं, इसी बीच हड़ताली ड्रायवर-कंडक्टरों ने उन्हें हड़ताल में शामिल होने की अपील की. इसके बाद से वे भी इसमें शामिल हुये.

अभिभावक राजीव ङ्क्षसह ने बताया कि हड़ताल की सूचना मिलने की वजह से बच्चों को स्कूल छोडऩे जाना था इसलिये मैंने ऑफिस से छुट्टïी ले ली थी. वहीं एक अन्य सरोज ने बताया कि सुबह के समय इसके पिता छोड़ गये थे लेकिन दोपहर मुझे लेने आना पड़ा. हड़ताल की वजह से अभिभावक ऑटो से अपने बच्चों को ले जाते दिखाई दिये.

बस ड्रायवर इसलिए रहे हड़ताल पर– ड्रायवर-कंडक्टर ट्रैफिक नियमों, खासकर धारा-304-ए के स्थान पर 304 के तहत कार्रवाई करने के विरोध में हड़ताल पर हैं. यात्री सेवा समिति से जुड़े पदाधिकारियों ने बताया कि धारा 304 के तहत कार्रवाई किये जाने से ड्रायवर-कंडक्टरों में रोष व्याप्त है. पहले दुर्घटना होने पर जहां चारा 304-ए के तहत मामला दर्ज किया जाता था. इसमें दो साल सजा व जुर्माना का प्रावधान है.

वहीं अब अगर दुर्घटना में कोई जनहानि होती है तो धारा 304 के तहत मामला दर्ज किया जाता है. इसमें दस साल की सजा और जुर्माने का प्रावधान है. इसके चलते ड्रायवर व कंडक्टरों में रोष व्याप्त है.