नयी दिल्ली,   डेरा सच्चा सौदा के राम रहीम को बलात्कार के आरोप में दोषी करार दिये जाने के बाद फरार चल रही उसकी मुंह बोली बेटी हनीप्रीत ने अपने पिता को निर्दोष बताया है। हनीप्रीत ने एक निजी टेलीविजन चैनल से बातचीत में कहा कि उनके पिता राम रहीम बेगुनाह हैं और आने वाले समय उनकी बेगुनाही साबित होगी।

उन्होंने कहा कि उन हजारों लड़कियों की बात अनसुनी करके सिर्फ एक खत के आधार पर किसी को कैसे गुनहगार ठहराया जा सकता है। हनीप्रीत ने कहा कि पिता को सजा सुनाये जाने के बाद उन्हें जिस तरह से दिखाया गया उससे वह अवसादग्रस्त हो गयी तथा खुद से डरने लगी। वह हिंसा भड़काने में शामिल नहीं थी और न ही किसी के पास उसके खिलाफ कोई सबूत है। उसने कहा “मुझे देशद्रोही कहा गया है, जो बिल्कुल गलत है।

अपने पापा के साथ एक बेटी अदालत में जाती है। ऐसा बिना अनुमति के संभव नहीं है।” उन्होंने कहा कि मुझे समझ में नहीं आता है कि पिता-बेटी के पवित्र रिश्ते को उछाला जा रहा है। क्या एक पिता अपनी बेटी के सिर के ऊपर हाथ नहीं रख सकता है। क्या एक बेटी अपने पिता से प्यार नहीं कर सकती है। पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने के सवाल पर हनीप्रीत ने कहा कि वह इस मामले में कानूनी सलाह लेगी।

उन्होंने कहा कि वह कोशिश करके दिल्ली गई और अब हरियाणा-पंजाब उच्च न्यायालय जाऊंगी। गौरतलब है कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने दो साध्वियों के साथ दुष्कर्म मामले में सिरसा के डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम दोषी करार दिया था उसके बाद पंजाब और हरियाणा में भड़की हिंसा में 30 लोगों की मौत हो गयी तथा 200 से अधिक घायल हो गये थे। अदालत ने राम रहीम को 28 अगस्त को 20 साल सश्रम कारावास की सजा सुनायी और 30 लाख 20 हजार रुपये जुर्माना लगाया था।

Related Posts: