rawatदेहरादून,   उत्तराखंड में रविवार को राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के बाद सोमवार को हरीश रावत ने राज्यपाल केके पॉल से मुलाकात की. मुलाकात के बाद मीडियाकर्मियों से बात करते हुए रावत ने कहा कि वह 34 विधायकों द्वारा साइन किए गए दो ज्ञापन सौंपने के लिए राज्यपाल से मिलने गए थे.

उन्होंने कहा, हमनेे उन्हें बताया कि हटाई गई सरकार के पास अभी भी बहुमत है. इस बीच केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि उत्तराखंड सरकार को 18 मार्च को ही इस्तीफा दे देना चाहिए था. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार 18 मार्च से 27 मार्च तक लोकतंत्र की हत्या कर रही थी. इस बीच उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के खिलाफ याचिका दायर करने के लिए कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी सोमवार सुबह नैनीताल पहुंचे.
उच्च न्यायालय पहुंचे, जहां याचिका दायर करने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी.

 

Related Posts: