kailashनयी दिल्ली,  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कल कहा  कि उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन हटाने के नैनीताल उच्च न्यायालय के फैसले पर उसे कोई आश्चर्य नहीं हुआ है और पार्टी इसका अध्ययन कर आगे की रणनीति तय करेगी।

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हरीश रावत सरकार राज्य में अल्पमत में आ गयी थी, अभी भी वह अल्पमत में है और 29 अप्रैल को हम साबित कर देंगे कि वह अल्पमत में ही है।
पार्टी को किसी भी तरह की कोई चिंता नहीं है।

Related Posts:

आप में तकरार, प्रशांत योगेंद्र की होगी छुट्टी!
जीएसटी देश के लिए महत्वपूर्ण
बीएसएफ काफिले पर हमला, एक आतंकी जिंदा गिरफ्तार
सातवें वेतन आयोग लागू करने से वित्तीय बोझ का असर नहीं : राजन
कश्मीर के हिस्से पर पाकिस्तानी कब्जा ‘शरीर में शूल के समान’ : राहा
सुप्रीम काेर्ट का शशिकला के मुख्यमंत्री बनने पर रोेक लगाने संबंधी याचिका पर तत्क...