shivrajभोपाल,  मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने आज यहां कहा कि वे राज्य कर्मचारियों की मांगों को पूरा करेंगे लेकिन आज प्राथमिकता प्रदेश के किसान हैं, जा मौसम की मार झेल रहे हैं इसलिये सबसे पहले उनकी समस्याओं को देखा जाएगा उसी के बाद बाकी मांगों पर विचार करेंगे.

उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसान सूखे और प्राकृतिक आवदा से जूझ रहे है.कई जिलों के किसानों की सोयाबीन की फसले बर्बाद हो चुकी है. लेकिन किसान भाईयों चिंता मत करों, प्रदेश की सरकार किसानों के साथ है. हर हालत में किसानों के नुकसान की पूरी भरपाई की जाएगी इसके लिए चाहे कर्ज कयों न लेना पड़े. मुख्यमंत्री ने यह बात कर्मचारियों संगठनों द्वारा आयोजित लिपिक वर्ग की महापंचायत कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही. एक महीने बाद मुख्यमंत्री के दस साल का कार्यकाल पूर्ण होने जा रहा है, जिसके उपलक्ष में कर्मचारियों संगठनों की ओर लिपिक वर्ग की महापंचायत का आयोजन मंत्रालय के सामने स्थित मैदान में किया गया था, जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर मुख्यमंत्री और विशिष्ठ अतिथि तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता मुख्य रूप से शामिल हुए.
इस दौरान कई संगठनों के पदाधिकारियों ने मंच पर मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराया. वहीं मुख्यमंत्री ने कर्मचारियों को आश्वासन दिया कि तुम लोगों की हर जाहिर मांगों को पूरा किया जाएगा. कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री का ध्यान पूर्ण रूप से किसानों की समस्याओं के ऊपर केंद्रित रहा.

Related Posts: