प्रधानमंत्री आवास योजना के भवनों का करवाया अवलोकन

  • महापौर की अनूठी पहल

भोपाल,

प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत कोकता में निर्माणाधीन भवनों का अवलोकन हितग्राहियों को कराने की पहल महापौर आलोक शर्मा ने करते हुए लगभग 1200 हितग्राहियों को निगम आयुक्त प्रियंका दास की उपस्थिति में निर्माणाधीन मकान दिखाए.

इस दौरान आवासों के निर्माण में प्रयुक्त सामग्री का भी अवलोकन कराया और आवासों में उपलब्ध सुविधाओं के संबंध में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी. भोपाल नगर निगम संभवत: ऐसा पहला नगरीय निकाय है जहां इस प्रकार का नवाचार किया गया. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कोकता क्षेत्र में 203.47 करोड़ रुपये की लागत से 2016 ई.डब्ल्यू.एस., 432 एलआईजी व 432 एमआईजी आवासों का निर्माण कराया जा रहा है.

प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत कोकता ट्रांसपोर्ट नगर के पास आवासों के निर्माण स्थल पर हितग्राही सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें कृष्णा नगर, आलम नगर बालाजी नगर, बंजारी बस्ती, राम नगर, शिव नगर के लगभग 1200 हितग्राहियों को निर्माण अधीन आवासों का अवलोकरन कराया गया साथ ही बैंकों से ऋण प्राप्त करने हेतु भी जानकारी उपलब्ध कराई गई.

महापौर आलोक शर्मा ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि प्रत्येक जीव का अपने घर का सपना होता है और गरीबों के इस सपने को पूरा करने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2022 तक आवासहीन नागरिकों को अपने आवास देने की योजना बनाई है और इसी के तहत गरीब नागरिकों को बेहतर जीवन यापन की व्यवस्थाएं उपलब्ध कराने की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की मंशानुरुप राजधानी भोपाल में भी विभिन्न परियोजनाओं के तहत गरीबों के लिए आवासों का निर्माण कराया जा रहा है.

नगर निगम भोपाल ने सबसे पहले इन आवासों के हितग्राहियों को निर्माणाधीन आवासों का अवलोकन कराने का एक अनूठा कदम उठाया है ताकि हितग्राही अपने आवास को निर्माण के दौरान देख सकें औेर उसकी गुणवत्ता आदि पर भी नजर रख सकें. उन्होंने नागरिकों का आव्हान किया की वह अपने आवासों को देखें और कहीं किसी प्रकार की कोई समस्या आती है तो उसका हम तत्काल निराकरण भी कराएंगे.

ऐसे होंगे आवास

महापौर शर्मा ने बताया कि आवासों के निर्माण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जा रहा है साथ ही उन्होंने यह जानकारी दी कि सर्वसुविधायुक्त आवासों का फ्रंट ऐलीवेशन खूबसूरत होगा.

साथ ही इसमें एक बहुउद्देशीय कक्ष, एक बेडरुम, किचिन, वाशरुम, वेस्टर्न शीट युक्त शौचालय एवं स्नानागार सहित बालकनी होगी तथा अत्याधुनिक लिफ्ट भी लगाई जाएगी. छह मंजिला और नौ मंजिला भवनों के कवर्ड कैम्पस में रोजमर्रा की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए सब्जी, फल, किराना, केश सज्जाकार, दवाई आदि की दुकानें भी बनाई जाएंगी साथ ही कम्यूनिटी हॉल, उद्यान, खेल मैदान व लाइब्रेरी की व्यवस्था भी यहां की जाएगी. महापौर शर्मा ने कहा कि सर्वेक्षण के दौरान जिनका नाम दर्ज होने से रह गया है उनके भी नाम दर्ज किए जाएंगे.

Related Posts: