07sushama1भोंपाल, राजधानी भोपाल में हो रहे दसवें विश्व हिंदी सम्मेलन की तैयारियाँ अंतिम चरण में पहुँच गयी है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहाँ मंत्रालय में विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज, विदेश राज्य मंत्री जनरल वी.के.सिंह के साथ तैयारियों की संयुक्त समीक्षा कर अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए. आठ सितम्बर को भव्य प्रदर्शनी का शुभारंभ होगा.

मुख्यमंत्री ने तैयारियों पर संतोष जताते हुए कहा कि कई अर्थों में यह सम्मेलन भोपाल और मध्यप्रदेश के लिए अनूठा और अद्भुत होगा. पूरी राजधानी हिन्दीमय हो जायेगी. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आयोजन हर प्रकार से त्रुटिरहित होना चाहिए. छोटी से छोटी कमियों को तत्काल सुधार ले। उन्होंने आयोजन से जुड़े विभाग की तैयारियों की समीक्षा की. सौंदर्यीकरण, अतिथि सत्कार, प्रतिनिधियों की आवास व्यवस्था, उनके साथ अधिकरियों को सम्बद्ध करने, सम्मेलन स्थल पर लाने-ले जाने के लिए वाहन व्यवस्था, वाहन चालकों का प्रशिक्षण, सांस्?कृतिक प्रस्तुति, स्मृति-चिन्ह, भोजन की गुणवत्ता, हिंदी गान की प्रस्तुति, मीडिया सेंटर की व्यवस्थाएँ आदि की समीक्षा कर अंतिम रूप दिया.सम्मलेन परिसर की सभी व्यवस्था?, अतिथियों के प्रदेश भ्रमण की व्यवस्था की भी समीक्षा की गयी.

अभूतपूर्व होगा सम्मेलन
श्रीमती सुषमा स्वराज ने उम्मीद जताई कि यह सम्मलेन मुख्यमंत्री चौहान के व्यक्तिगत रुचि लेने से अभूतपूर्व होगा. उन्होंने तैयारियों की सराहना करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने सम्मलेन के आयोजन को बेटी के ब्याह की तरह लिया है. यह भव्यता और गरिमा का बेजोड़ संगम सिद्ध होगा.आधुनिक तकनीक का उपयोग करते हुए मूर्धन्य सहित्यकारों को भी श्रद्धांजलि स्वरूप याद किया गया है.

उन्होंने एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर अतिथियों के लिए स्वागत का बोर्ड तत्काल लगाने का सुझाव दिया.साथ ही अतिथियों के रुकने वाली होटल के आसपास साफ-सफाई रखने और सम्मेलन के दौरान सतत स्वच्छता रखने को कहा.उन्होंने अतिथियों से सम्बद्ध अधिकारियों को उनसे फोन पर अभी से संपर्क में रहने को कहा ताकि आगमन पर किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो.जनरल वी.के.सिंह ने तैयारियों के बाद रिहर्सल का सुझाव दिया. आयोजन प्रबंध समिति के उपाध्यक्ष अनिल दवे ने अंतर्विभागीय समन्वय का ध्यान रखने को कहा.

Related Posts: