वोट प्रतिशत बढ़ा पर सीटें हुईं कम, हिमाचल में सीएम पद के दावेदार हारे

  • सीएम रुपाणी ,
  • डिप्टी सीएम पटेल जीते,
  • 7 मंत्री हारे,

अहमदाबाद-शिमला,

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भाजपा ने आखिरकार जीत हासिल कर ली है. भाजपा ने हिमाचल जहां कांग्रेस से छीना है, वहीं गुजरात में सत्ता पर कब्जा बरकरार रखा है. यहां दोनों दलों के कई दिग्गज चुनाव हार गये हैं. वहीं हिमाचल में सीएम पद के दावेदार भी खेत रहे हैं. देर शाम तक गुजरात में भाजपा ने 99 सीटें जीत ली हैं.

ये बहुमत से 7 सीटें ज्यादा हैं. उधर हिमाचल प्रदेश में 68 सीटों में से 44 पर भाजपा ने जीत दर्ज की है. 21 पर कांग्रेस सिमट गई है. पीएम मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दोनों जगह की जीत को विकास और सुशासन की जीत बताया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जनादेश को सिर-माथे पर लेते हुये कहा है कि वह इससे निराश नहीं हैं.

गुजरात विधानसभा चुनाव की मतगणना में आज सत्तारूढ़ भाजपा ने लगातार छठी जीत हासिल कर विजय का छक्का लगाया है.182 सदस्यीय विधानसभा में पिछले 22 साल से सत्तारूढ़ भाजपा को इस बार 92 के सामान्य बहुमत से सात अधिक यानी 99, कांग्रेस को 79 , इसकी सहयोगी भारतीय ट्राइबल पार्टी को दो, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को एक और तीन निर्दलियों को जीत हासिल हुई है.

2012 के पिछले चुनाव में भाजपा ने 115, कांग्रेस ने 61, राकांपा और केशुभाई पटेल की गुजरात परिवर्तन पार्टी (जिसका बाद में भाजपा में विलय हो गया था) ने दो और जदयू तथा निर्दलीय ने एक एक सीटें जीती थीं.

इस तरह इस बार भाजपा को कुल मिला कर पिछली बार की तुलना में 16 सीटों का नुकसान हुआ है जबकि कांग्रेस इतनी ही सीटों का फायदा हुआ है. भाजपा ने शहरी क्षेत्रों में दबदबा बरकरार रखा है जबकि कांग्रेस ने ग्रामीण क्षेत्रों में अपेक्षाकृत बेहतर प्रदर्शन किया है.

क्षेत्रवार सौराष्ट्र की 48 सीटों में से भाजपा ने पिछली बार के 29 की तुलना में मात्र 19 सीटें जीती हैं. कांग्रेस ने 16 की जगह 28 सीटें जीती हैं. दक्षिण गुजरात की 35 सीटों में भाजपा और कांग्रेस ने क्रमश: 25 और 8 सीटें जीती हैं. पिछली बार यह संख्या 28 और छह थी. कच्छ की छह में से भाजपा ने इस बार चार और कांग्रेस ने दो सीटें जीती हैं.

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने भारी बहुमत के साथ जीत हासिल की. 68 सीटों वाली विधानसभा में भाजपा को 44 सीटें मिली. लेकिन बीजेपी की ओर से सीएम पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल सुजानपुर से चुनाव हार गए हैं.

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह अर्की से जीत हासिल की. उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह शिमला ग्रामीण से विधायक बने. उधर, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ऊना से 3 हजार से ज्यादा वोटों से चुनाव हार गए हैं. शिमला से बीजेपी के सुरेश भारद्वाज जीत गए हैं.

मंडी से बीजेपी उम्मीदवार अनिल शर्मा चुनाव जीत गए हैं. आनी से बीजेपी के उम्मीदवार किशोरी लाल जीत गए हैं.कांग्रेस की आशा कुमारी डलहौजी से विजय बनी. कांग्रेस के जीएस बाली नगरोटा से विधायक बनें.

30 साल बाद सूबे में फिर से जातिवाद के बीज बोने की कोशिश हुई, तरह-तरह के षड्यंत्र रचे गए लेकिन जनता ने उन षड्यंत्रों को नाकाम कर दिया. गुजरात और हिमाचल के नतीजों से साबित होता है कि अगर आप विकास नहीं करते हैं और गलत काम में उलझे हुए हैं तो 5 साल बाद जनता आपको बेदखल कर देगी.
-पीएम मोदी

 

कांग्रेस चुनाव प्रचार को निचले स्तर पर ले गई और जाति में झोंकने की कोशिश की जिस वजह से बीजेपी को कुछ सीटों पर नुकसान उठाना पड़ा. यह वंशवाद, जातिवाद और तुष्टीकरण पर विकासवाद की जीत है. हिमाचल में हमारी बड़ी जीत हुई है. वहां हमें दो-तिहाई बहुमत मिला है. दोनों राज्यों में अगला मुख्यमंत्री कौन होगा इसका फैसला संसदीय दल की बैठक में विचार-विमर्श कर लिया जाएगा.
-अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष

 

कांग्रेस पार्टी जनादेश को स्वीकार करती है और दोनों राज्यों में नयी सरकार को बधाई देती है. गुजरात और हिमाचल की जनता को इस बात के लिये धन्यवाद देते हैं कि उसने तहे दिल से प्यार किया है. मैं कार्यकर्ताओं के प्रति गर्व का भाव महसूस करता हूं.
-राहुल गांधी के ट्वीट से

 

व्यक्तिगत नुकसान ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं है. राज्य में बीजेपी की जीत से हुआ फायदा महत्वपूर्ण है. बीजेपी को वोट देने के लिए मैं राज्य के लोगों का शुक्रिया अदा करता हूं.
प्रेम कुमार धूमल,
सीएम उम्मीदवार, बीजेपी हिमाचल

 

गुजरात एवं हिमाचल प्रदेश विधान सभा चुनाव में जीत के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवं भारतीय जनता पार्टी को बधाई.Þ गुजरात में जीत का दावा करने वाली कांग्रेस हिमाचल भी हार गयी.
-नीतीश कुमार, सीएम बिहार

 

12-15 सीटों पर हार-जीत का अंतर 200-1000 वोटों का रहा है. जिस ईवीएम के अंदर फिर से गिनती हुई है, वहीं चेंज आए हैं. ईवीएम टैंपरिंग एक बड़ा मुद्दा है. हिमाचल की मतगणना पहले ही हो जानी थी.
-हार्दिक पटेल, पास नेता

 

गुजरात एवं हिमाचल प्रदेश की रिकॉर्ड ब्रेकिंग जीत पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बधाई और अभिनंदन. राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह एवं कार्यकर्ताओं के अथक प्रयास एवं परिश्रम का यह सुखद परिणाम है. गुजरात एवं हिमाचल की जनता का हृदय से आभार.
-शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री, एमपी

 

Related Posts: