बेंगलुरू,

विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू घरेलू मैदान पर आईपीएल-11 की शीर्ष टीम और प्लेऑफ के लिये सबसे पहले क्वालीफाई कर चुकी सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ टूर्नामेंट में अपनी उम्मीद बनाये रखने के लिये गुरूवार को करो या मरो के मैच में उतरेगी।

हैदराबाद की टीम ने 12 मैचों में नौ जीते हैं आैर तीन हारे हैं। वह 18 अंकों के साथ पहले ही नॉकआउट में क्वालीफाई कर चुकी है और अब शेष बचे मैचों के परिणाम उसके लिये अपना शीर्ष स्थान बनाये रखने के लिये ही अहम हैं जबकि तालिका में निचले दर्जे की टीमों के लिये प्लेऑफ में पहुंचने के लिये हर मैच करो या मरो का हो गया है।

विराट की टीम बेंगलुरू 12 मैचों में पांच ही जीत सकी है और वह आठ टीमों में सातवें स्थान पर है। गुरूवार को यदि बेंगलुरू में टीम अपने घरेलू मैदान पर जीत दर्ज करती है तो वह 12 अंकों के साथ अपनी उम्मीद कायम रखेगी जबकि राजस्थान, पंजाब और मुंबई भी उसके समीकरणों पर असर डालेंगे। बेंगलुरू के लिये अब शेष दोनों मैच जीतना अनिवार्य है और हारने की स्थिति में उसका सफर पूरी तरह समाप्त हो जाएगा।

बेंगलुरू ने आखिरी कुछ मैचों में रफ्तार पकड़ी है और पिछले दो मैचाें में दिल्ली डेयरडेविल्स से पांच विकेट और किंग्स इलेवन पंजाब से 10 विकेट से जीत दर्ज की है। टीम फिलहाल किनारे पर खड़ी है जहां खोने के लिये कुछ नहीं तो पाने के लिये बहुत कुछ है। ऐसे में उम्मीद की जा सकती है कि विराट की टीम ऊंचे मनोबल के साथ हैदराबाद को हराने के लिये अपना 100 फीसदी प्रदर्शन करेगी।

Related Posts: