13kkk2नई दिल्ली, 13 मार्च. शानदार फार्म में खेल रही भारतीय महिला हॉकी टीम शनिवार को यहां मेजर ध्यानचंद नेशनल हॉकी स्टेडियम में थाईलैंड के खिलाफ हीरो हॉकी वल्र्ड लीग(एचडब्ल्यूएल) राउंड दो के सेमीफाइनल में उतरेगी तो उसका लक्ष्य एक और बड़ी जीत हासिल कर फाइनल में जगह बनाने के साथ साथ एचडब्ल्यूएल के सेमीफाइनल्स के लिये भी क्वालिफाई करना होगा.

वल्र्ड लीग हॉकी राउंड दो के फाइनल में पहुंचने वाली दो टीमों को एचडब्ल्यूएल के सेमीफाइनल्स का टिकट मिल जाएगा. भारत के लिये यह लक्ष्य ज्यादा मुश्किल नहीं है क्योंकि टीम में अब तक धमाकेदार प्रदर्शन करते हुये ग्रुप मैचों में घाना को 13-0 से, पोलैड को 2-0 से और थाईलैंड को 6-0 से तथा क्वार्टरफाइनल में सिंगापुर को 10-0 से पीटा था. भारतीय टीम की निगाहें थाईलैंड को एक बार और करारी शिकस्त देकर फाइनल में पहुंचने पर लगी होंगी. टूर्नामेंट का दूसरा सेमीफाइनल पोलैंड और मलेशिया के बीच खेला जाएगा. भारतीय कप्तान रितू रानी ने मैच की पूर्व संध्या पर कहा कि हमें इस बात की खुशी है कि हमारी टीम ने अब तक सारे मैच जीते हैं और इस बात ने हमें अगले मैचों के लिये काफी आत्मविश्वास दे दिया है. रितू रानी ने कहा कि घाना और सिंगापुर को क्रमश: 13-0 और 10-0 से हराने के बाद खिलाड़ी इस प्रदर्शन को सेमीफाइनल में भी दोहराने के लिये तैयार हैं. हमें पेनल्टी कार्नर को गोल में बदलने की कला में अभी और सुधार करने की जरूरत है. हम थाईलैंड के खिलाफ आक्रामक खेल का प्रदर्शन करेंगे. मुझे इस मुकाबले में वंदना कटारिया से एक बार फिर गोलों की बारिश की उम्मीद रहेगी. वंदना कटारिया ने क्वार्टरफाइनल में सिंगापुर के खिलाफ चार गोल किये थे और वह टूर्नामेंट में 10 गोलों के साथ सबसे आगे है. जसप्रीत कौर और रानी भी पांच पांच गोल कर चुकी है. वंदना की स्टिक का जादू चलता है तो भारत को थाईलैंड को हराने में किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. मलेशिया ने क्वार्टरफाइनल में घाना को 2-0 और पोलैंड ने रूस को 4-2 से पराजित किया था. इन दोनों टीमों के बीच मलेशिया का पलड़ा ज्यादा भारी माना जा रहा है. मलेशिया ने अपने पूल में कजाखिस्तान को 8-0 रूस को 3-0 और सिंगापुर को 5-0 से हराया था. पोलैंड को ग्रुप में एकमात्र पराजय भारत से मिली थी.

Related Posts: