08 sehore 01सीहोर. 8 मार्च नससे. प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह क्षेत्र में प्रशासन की निगरानी तंत्र की लचर व्यवस्था के कारण सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है. इसकी बानगी रविवार को शहर के अनेक आंगनबाड़ी केन्द्रों पर देखने को मिली.

रविवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आंगनबाड़ी केन्द्रों पर किशोरी बालिकाओं के लिए हौसलों की उड़ान उत्सव का आयोजन किया जाना था, लेकिन अनेक आंगनबाड़ी केन्द्रों पर ताले लटके होने के कारण इस हौसले की उड़ान कार्यक्रम को पंख नहीं मिल सके। आंगनबाड़ी केन्द्रों पर प्रशासन द्वारा किशोरियों को कार्यक्रम के माध्यम से अधिकारों की जानकारी, हुनर दिखाने के अवसर देना, अच्छे स्वास्थ्य के लिए पोषण आहार का महत्व समझाना, खेलने को प्रेरित करना एवं बचत का महत्व बताया जाना था, लेकिन आंगनबाड़ी केन्द्रों पर इसकी व्यवस्था नहीं होने के कारण महिला दिवस पर कई बालिकाएं मायूस होकर लौट गई।

आंगनबाड़ी केन्द्र रहे बंद
शहर के स्टेशन रोड, गंज, कस्बा और छावनी आदि के केन्द्रों पर एकीकृत बाल विकास सेवा के तत्वाधान में जारी किशोरी-बालिकाओं के लिए हौसलों की उड़ान का आयोजन किया जाना था, लेकिन इन आंगनबाड़ी केन्द्रों पर कार्यकर्ताओं और अन्य कर्मचारियों के मौजूद नहीं होने के कारण मोहल्ले के निवासियों को भी इसकी भनक नहीं थी. मोहल्ले के निवासियों का कहना था कि रविवार होने के कारण आंगनबाड़ी केन्द्र बंद होंगे, लेकिन हमारी टीम ने आंगनबाड़ी केन्द्रों में होने वाले आयोजनों की हकीकत के बारे में आसपास रहने वाले लोगों से जानकारी जुटाई तो लोगों का कहना था कि इन केन्द्रों पर अधिकांश समय ताला लटका रहता है और लाभकारी योजनाओं का लाभ भी नहीं मिलता है.

नहीं मिले जिम्मेदार
रविवार प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित इस योजना के अंतर्गत होने वाले कार्यक्रमों के लिए प्रशासन ने जिम्मेदारों को जवाबदेही सौंपी थी, लेकिन इन आंगनबाड़ी केन्द्रों पर निरीक्षण दल की विफलता के कारण ताले लटके हुए थे.

Related Posts: