trumpवाशिंगटन, अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ प्रदर्शन का सिलसिला जारी है, हालांकि विभिन्न शहरों में होने वाले प्रदर्शनों में पिछले दिन की तुलना में प्रदर्शनकारियों की संख्या कम देखी गयी है। प्रदर्शनकारी ‘ ट्रम्प मेरे राष्ट्रपति नहीं हैं’ के नारे लगा रहे हैं। लोग आप्रवासन, समलैंगिकों के अधिकार जैसे मुद्दों पर श्री ट्रंप की नीतियों के खिलाफ कल नारे लगाये।

ओरेगन और पोर्टलैंड में हिंसक प्रदर्शन हुये। पोर्टलैंड में सड़कों पर हजारों प्रदर्शनकारियों ने दुकानों और वाहनों के शीशे तोड़ दिये। इन प्रदर्शनकारियों में अधिकतर युवा शामिल हैं। प्रदर्शनकारियों का मानना है श्री ट्रम्प के राष्ट्रपति बनने से जातीय और लिंग भेद बढ़ने की आशंका है।

दूसरी तरफ श्री ट्रम्प ने प्रदर्शनकारियों को पेशेवर प्रदर्शनकारी करार दिया और कहा कि मीडिया ने उन्हें बरगलाया है। उन्होेंने कहा कि यह देखकर अच्छा लगा कि प्रदर्शनकारियों में इस महान देश के लिए जज्बा है। फिलाडेल्फिया में प्रदर्शनकारी सिटी हॉल के पास एकत्रित हुये।

प्रदर्शनकारी बैनर और प्ले कार्ड लिये हुये थे जिसमें ‘हमारे राष्ट्रपति नहीं और ‘अमरीका को सभी के लिए सुरक्षित बनाओ’ जैसे नारे लिखे हुये थे। बाल्टीमोर में 600 लोगों ने शांतिपूर्ण तरीके से शहर में रैली निकाली। गौरतलब है कि श्री ट्रम्प के खिलाफ पिछले दो दिनों से अमेरिका के विभिन्न शहरों में प्रदर्शन हो रहा है।

राष्ट्रपति बराक ओबामा और डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार रही हिलेरी क्लिंटन ने जनता से अपील की थी कि वह श्री ट्रंप को नेतृत्व का मौका दें लेकिन इन दोनों की अपील के बावजूद कई शहरों में लोगों ने श्री ट्रम्प के खिलाफ प्रदर्शन किया।

Related Posts: