global_summitभोपाल,  मध्यप्रदेश के इंदौर में 22 अक्टूबर से शुरू होने वाली ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट के दो दिन पहले आज कांग्रेस की प्रदेश इकाई ने सम्मेलन को लेकर प्रदेश सरकार को जम कर घेरने की कोशिश की।

अाज यहां संवाददाताओं से चर्चा करते हुए श्री यादव ने कहा कि प्रदेश में होने वाले इन सम्मेलनों की सच्चाई सबके सामने लाने के लिए पार्टी 22 अक्टूबर से प्रदेशव्यापी ढोल की पोल अभियान की शुरूआत करेगी।

उन्होंने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि इंवेस्टर्स के नाम पर प्रदेश सरकार जनता को मूर्ख बना रही है। पिछले सभी सम्मेलनों में स्थानीय लोगों को रोजगार देने की बात थी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। उन्होंने दो घराने विशेष का नाम लेते हुए प्रदेश सरकार पर कई आरोप लगाए।

उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार के कुछ चुनिंदा अधिकारियों की इन कंपनियों से सांठ-गांठ है। प्रदेश में 2007 से इन सम्मेलनों के जरिए इस सांठ-गांठ के तहत प्रदेश को लूटने और लुटाने का खेल चल रहा है। प्रदेश कांग्रेस इसी फर्जीवाड़े की पोल खोलने के लिए 22 अक्टूबर को इंदौर से प्रदेशव्यापी ‘ढोल की पोल’ आंदोलन का आगाज करेगी।

श्री यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार पहले से करोडों के कर्ज में डूबी हुई है और अब और कर्ज लेने की तैयारी है। उन्होंने आरोप लगाया कि ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट और विश्व हिंदी सम्मेलन जैसे वृहद आयोजन करके सरकार प्रदेश का पैसा बर्बाद कर रही है।

उन्होंने प्रदेश सरकार पर उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए एक तरीका अपनाने का आरोप लगाया। इसे समझाते हुए उन्होंने कहा कि पहले 30 साल का पट्टा दिया जाता है और फिर उस जमीन को ‘फ्री होल्ड’ कर दिया जाता है।

Related Posts: