geetaनयी दिल्ली,  देश की पहली महिला ओलंपियन पहलवान गीता फोगट प्रो रेसलिंग लीग को लेकर काफी गंभीर हैं और पूरी मजबूती के साथ इसमें अपनी चुनौती पेश करना चाहती हैं जिसके मद्देनजर उन्होंने 20 नवंबर को अपनी शादी के तीन दिन बाद फिर अखाड़े में लौटने का निर्णय किया है और साथ ही अपने हनीमून को भी फिलहाल टाल दिया है।

गीता ने बताया कि वह अपनी शादी के एक दिन पहले तक कुश्ती का अभ्यास जारी रखेंगी और तीन दिन बाद कुश्ती के अखाड़े में लौट आएंगी।
महिला पहलवान के घर के परिसर में बने अखाड़े में पिता और द्रोणाचार्य अवॉर्डी महावीर की देखरेख में वह कुश्ती सीखती हैं।

गीता के एक भाई दुष्यंत अभ्यास के दौरान उनके स्पेयरिंग पार्टनर रहते हैं।
पूरे परिवार का एक ही मकसद है कि गीता एक बार फिर से अपने वजन में शीर्ष स्थान हासिल करें।

कुछ साल पहले तक गीता का ही अपने वजन में सिक्का चलता था लेकिन पिछले दो वर्षों में साक्षी मलिक के साथ उनके मुक़ाबले इतने रोचक रहे कि जिसने उन्हें देखा, वह बस देखता ही रह गया लेकिन रियो ओलंपिक में पदक जीतने के साथ ही साक्षी सुर्खियों में आ गईं और गीता हाशिये पर चली गईं।

गीता पीडब्ल्यूएल में शानदार प्रदर्शन करके एक बार फिर सुर्खियों में आना चाहती हैं।

सीज़न-1 में साक्षी के साथ उनके मुक़ाबले का स्कोर 8-8 था लेकिन आखिरी अंक जीतने के आधार पर साक्षी विजयी रही थीं।

Related Posts: