bpl1भोपाल,  जवाहर बाल भवन में 14 से 20 नवंबर तक आयोजित 7 दिवसीय बाल दिवस समारोह का रविवार को रंगारंग कार्यक्रम के साथ समापन किया गया है, इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में म.प्र. शासन, महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनिस उपस्थित रही.

कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन कर किया गया. इसके बाद प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त बच्चों ने अपनी प्रस्तुतियों दी गई, सागर बाल भवन द्वारा प्रस्तुत सबसे निराला मेरा बाल भवन है गीत ने सबका मन मोह लिया, वही ग्वालियर की छोटी-छोटी बालिकाओं द्वारा लंगुरिया गीत पर समूह नृत्य एवं बाल भवन उज्जैन की अभिनिष्ठा द्वारा शास्त्रीय गीत प्रस्तुत किया गया.उसके बाद प्रदेश में लाड़ो अभियान अंतर्गत स्वयं के बाल विवाह शुन्य कराने वाली बालिकाओं को सम्मानित किया गया.

इसके बाद अंतर बाल भवन प्रतियोगिता में चयनित बच्चों को पुरस्कार विवरण किया गया.जिसमें समूह नृत्य प्रतियोगिता में बाल भवन ग्वालियर द्वारा प्रथम, एकल नृत्य में बाल भवन उज्जैन की दीक्षा सोनवलकर को प्रथम, चित्रकला में जवाहर बाल भवन भोपाल से राजदीप मेृघा को व श्रृद्धा तिवारी को एकल अभिनयय में प्रथम, समूह गीत में बाल भवन सागर को प्रथम एवं एकल गीत में बाल भवन ग्वालियर को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

अर्चना चिटनिस ने अपने उद्बोधन में सभी बच्चों को बाल दिवस की बधाई देते हुऐ अपने शिक्षक, माता-पिता, अपने से बड़े-छोटे लोगों को हमेशा सम्मान देने की सीख दी गई. कार्यक्रम के अंत में बाल भवन की संचालक तृप्ति त्रिपाठी ने बताया कि इस प्रकार के आयोजन विशेष अवसरों पर पुन: आयोजित किये जायेगें, जिससे हमारे सभी 7 बाल भवनों के बच्चों को एक-दूसरे से मिलने एवं उनसे बहुत सीखने को मिलता है.इस अवसर पर एकीकृत बाल विकास सेवा म.प्र. के अपर संचालक रमनवाल, महिला सशक्तिकरण म.प्र. की अपर संचालक सीमा ठाकुर एवं समस्त बाल भवनों के सहायक संचालक उपस्थित रहे.

Related Posts: