modiनयी दिल्ली,   ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे के साथ भारत और ब्रिटेन के बीच पहले तकनीक सम्मेलन की सह अध्यक्षता करते हुये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यहां कहा कि सुरक्षात्मक स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में एक समग्र दृष्टिकोण उपलब्ध कराने के लिये भारत के विशाल पारंपारिक ज्ञान आधार का आधुनिक वैज्ञानिक शोध से फायदा उठाने में ब्र्रिटेन सहयोगी की भूमिका निभा सकता है।

श्री मोदी ने कहा कि यह सम्मेलन भारत और ब्रिटेेन के बीच शिक्षा,शोध और नवाचार के लिये वर्ष 2016 को रेखांकित किये जाने का प्रतीक है। गौरतलब है कि सुश्री मे कल रात तीन दिवसीय सरकारी यात्रा पर भारत पहुंची। यह उच्च स्तरीय सम्मेलन भारत और ब्रिटेन के उद्योगपतियों के लिये नई संभावनों के द्वार खोल सकता है ताकि वैज्ञानिक ज्ञान को तकनीक आधारित उपक्रम में बदला जा सके।

श्री मोदी ने पिछले वर्ष नवंबर में अपनी ब्रिटेन यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच बीच मैत्री को प्रगाढ़ करने के लिये इस सम्मेलन पर विचार किया था। पदभार संभालने के बाद यूरोपीय संघ के बाहर सुश्री मे की यह पहली विदेश यात्रा है।

Related Posts: