shivpalलखनऊ, ‘यादव परिवार’ के हालिया विवाद की तल्खी भले ही कम हो गयी हो, लेकिन समाजवादी पार्टी (सपा) की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव का दर्द आज पार्टी के शताब्दी समारोह में छलक पडा। श्री यादव ने यहां जनेश्वर मिश्र पार्क में आयोजित पार्टी के शताब्दी समारोह में राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का नाम लिये बगैर कहा, “जो चाहना मांग लेना, खून भी दे सकता हूं।

मुख्यमंत्री बनने की चाहत कभी नहीं रही। सरकार में मैंने भी बहुत काम किया है। सबकुछ सह सकता हूं लेकिन नेताजी का अपमान नहीं सह सकता।” भाषण के दौरान वह कई बार भावुक भी दिखे। सपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी में कुछ घुसपैठिये आ गये हैं। उनसे हमेशा सावधान रहना। पार्टी को मजबूत बनाना है। गुटबन्दी खत्म कर अनुशासन में रहते हुए सरकार बनायेंगे। पद से व्यक्ति बडा नहीं होता। डा0 राममनोहर लोहिया और महात्मा गांधी के पास कोई पद नहीं था। दोनों ही पूरी दुनिया में अपना स्थान रखते हैं।

Related Posts: