rahulबैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह, राज्यसभा में विपक्षी के नेता गुलामनबी आजाद, लोकसभा में पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खडगे, वरिष्ठ कांग्रेस नेता एके एंटनी, कांग्रेस अध्यक्ष के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल, कांग्रेस कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा तथा पार्टी महासचिव जनार्दन द्विवेदी, उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर सहित कई प्रमुख नेता हिस्सा ले रहे हैं।

बैठक में वन रैंक वन पेंशन (ओआरओपी) के मुद्दे पर पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल के आत्महत्या के मामले से उपजे राजनीतिक हालातों, उत्तर प्रदेश तथा पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनावों और मध्य प्रदेश में छात्रों की मौत के साथ ही पठानकोठ आतंकवादी हमले को लेकर एनडीटीवी इंडिया चैनल पर प्रतिबंध लगाने जैसे मुद्दों पर चर्चा की जाएगी और एक सप्ताह बाद शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र में मोदी सरकार को घेरने की रणनीति पर गहन विचार विमर्श होगा।

इसके अलावा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सेना के सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय लेने की सरकार की कोशिश तथा तीन बार तलाक और मध्यप्रदेश की जेल से भागे सिमी के आठ आतंकवादियों के मारे जाने को लेकर उठे मुद्दों पर भी चर्चा किए जाने की भी उम्मीद है। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार बैठक में पार्टी में संगठनात्मक चुनाव का मामला नहीं उठेगा क्योंकि कई राज्यों में विधानसभा चुनाव को देखते हुए पार्टी ने चुनाव आयोग से इसके लिए समय मांगा है।

Related Posts: