लोकसभा में सरकार पर बरसे सांसद सिंधिया

नई दिल्ली,

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ ट्रेनिंग सेंटर पर हुए आतंकवादी हमले पर विपक्ष ने मंगलवार को संसद में सरकार को घेरने की कोशिश की.

कांग्रेस ने सदन में यह मुद्दा उठाते हुए प्रधानमंत्री पर मौन साधने का आरोप लगाया और सरकार से पाकिस्तान सहित विदेशी नीति पर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की. कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा कि जो लोग एक सिर के बदले 10 सिर लाने की बातें करते थे, वे आज चुप क्यों है.

शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए सिंधिया ने कहा कि 2017 के अंतिम दिन जब पूरा देश जश्न मना रहा था तब पुलवामा में सीआरपीएफ के शिविर पर पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवादियों ने हमला किया. इसमें हमारे पांच जवानों को जान गंवानी पड़ी और तीन आतंकी भी मारे गए.

उन्होंने कहा, हमारी सेना और जवान देश की सुरक्षा को तत्पर हैं, लेकिन चिंता इस बात की है कि सरकार उनकी सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं है.पहले भी पंपोर, पठानकोट समेत कई क्षेत्रों में आतंकी हमले हुए. इस बारे में समितियां भी बनीं, लेकिन इन पर कोई अमल नहीं हो रहा है.

“सिंधिया ने कहा कि पुलवामा हमले के बारे में खुफिया जानकारी पहले से थी. आतंकवादी जहां से घुसे वहां पर फ्लडलाइट नहीं थीं. उन्होंने कहा, जो लोग कहते थे कि एक सिर के बदले 10 सिर लायेंगे, वे आज चुप क्यों हैं.

देश के प्रधानमंत्री कोई बात नहीं कह रहे हैं. एक वर्ष में 82 सैनिकों ने जान दी है. पाकिस्तान के प्रति सरकार की नीति क्या है? सरकार के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पाकिस्तान के एनएसए से मिल रहे हैं और वह भी तब जाधव के परिवार की उनसे मिलने की घटना का मुद्दा सामने आता है. सरकार की विदेश नीति क्या है, हम समझ नहीं पा रहे हैं.”

 

Related Posts: