sharnarthiवियना,  ऑस्ट्रिया अब तक करीब 10,000 प्रवासियों को प्रवेश दे चुका है और यूरोपीय देश बड़ी संख्या में अपने यहां आ रहे प्रवासियों को अपने पड़ोसी देशों में भेजने का प्रयास कर रहे हैं। यूरोप में शराणर्थी संकट के बढऩे के ताजा घटनाक्रम में क्रोएशिया, हंगरी और स्लोवेनिया में इस बात को लेकर विवाद हुआ कि उत्तरी और पश्चिमी यूरोप में नई जिंदगी की आस में पहुंच रहे हजारों लोगों के लिए किस तरह व्यवस्था की जाए।

इस बीच यूरोपीय संघ ने सीरियाई नागरिकों को तुर्की में रूके रहने के लिए प्रोत्साहित करने के वास्ते सहायता को बढ़ाने की एक योजना तैयार की है। हंगरी की दक्षिणपंथी सरकार ने संकल्प जताया है कि वह नए आने वाले लोगों से अपनी सीमाओं की रक्षा करेगी जिनमें से ज्यादातर लोग पश्चिमी एशिया और अफ्रीका से हैं।

हंगरी की प्रवासियों के साथ हिंसक झड़प और जल्दबाजी में सर्बिया के साथ लगने वाली अपनी सीमा पर बाड़ लगाने को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने आलोचना की थी। बहरहाल, हंगरी ने शुक्रवार देर रात अपनी रणनीति में बदलाव किया और प्राधिकारियों ने हजारों प्रवासियों को ऑस्ट्रिया से लगती सीमा की ओर भेजना शुरू कर दिया। यह, जितनी जल्दी हो सके, प्रवासियों को अपने भूभाग से बाहर करने की स्पष्ट कोशिश है। ऑस्ट्रियन पुलिस के अनुसार, हंगरी ने कम से कम 6,700 लोगों को सीमा पर भेज दिया है जबकि अनुमान के अनुसार, करीब 10,000 प्रवासी शनिवार को उसकी सीमा पर पहुंचे।

Related Posts:

पाकिस्तान में हमलों की योजना बना रहा था ओसामा
स्मार्ट सिटी के लिए बर्लिन में सम्मेलन शुरू
अमेरिका ने सभी आतंकवादी गुटों के विरूद्ध कार्रवाई की मांग की
चीन में चक्रवाती तूफान "मेरान्ती" से जनजीवन प्रभावित
मध्य अमेरिकी देश होंडुरास में बस-ट्रक की टक्कर में 16 मरे ,34 घायल
भारत का माल्या को प्रत्यर्पित करने का ब्रिटेन से फिर आग्रह