अफगानिस्तान में बड़ा आतंकी हमला

संसद और दूतावास निशाना, 16 लोगों की मौत

भारतीय दूतावास सुरक्षित
इस बीच नई दिल्ली में विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा है कि भारतीय दूतावास के सभी अधिकारी और कर्मचारी पूरी तरह सुरक्षित हैं। हालांकि हमले में जिस तरह नाटो और कई पश्चिमी देशों के दूतावासों को निशाना बनाने की कोशिश की गई, उसे देखते हुए हर तरह के एहतियात बरते जा रहे हैं। चूंकि पहले भी भारतीय दूतावास को निशाना बनाकर हमले हो चुके हैं, इसलिए भारतीय विदेश मंत्रालय किसी तरह का जोखिम नहीं उठाना चाहता। विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी पूरे हालात पर नजर रखे हुए हैं।

तालिबान ने ली जिम्मेदारी
तालिबान ने इस भीषण आतंकी हमले की जिम्मेदारी ले ली है। तालिबान की ओर से कहा गया है कि काबुल में उनके लोगों ने ही हमला बोला है। तालिबान ने दावा किया है कि सिर्फ काबुल में नहीं बल्कि अफगानिस्तान के दो अन्य शहरों में भी उनकी ओर से किया गया हमला जारी है।

काबुल, 15 अप्रैल. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बड़ा आतंकी हमला हुआ है। जगह-जगह कम से कम 12 बड़े धमाके हुए हैं।  संसद में भी आतंकी हमलावर घुस गए हैं।

आत्मघाती हमलावरों ने डिप्लोमेटिक एन्क्लेव में विस्फोट और गोलीबारी की। इसके साथ ही  एक होटल पर कब्जा कर लिया। हमले में शुरुआती जानकारी के मुताबिक कम से कम 16 लोग मारे गए हैं।  कई आतंकी हमलावर संसद में घुस गए हैं। हालांकि अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि नहीं की है। अधिकारियों के मुताबिक आतंकियों ने संसद में घुसने की कोशिश जरूर की, पर उन्हें सुरक्षा बलों ने रोक लिया। आतंकवादियों ने वजीर अकबर खान इलाके में स्थित काबुल स्टार होटल पर हमला किया। यह पंचसितारा होटल अमेरिकी दूतावास, आईएसएफ के मुख्यालय, तुर्की के दूतावास, राष्ट्रपति आवास, ईरानी दूतावास और कई अन्य राजनयिक कार्यालयों के निकट है। आतंवादी घातक हथियारों से लैस थे और उन्होंने विभिन्न इलाकों में गोलीबारी की। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक आत्मघाती हमलावरों ने नए बने इस होटल को अपने कब्जे में ले लिया है। इसमें गोलीबारी की खबर भी है। पूरे इलाके को सुरक्षा बलों ने घेर लिया है।

एयरपोर्ट पर आतंकियों का कब्जा

मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी काबुल के कई इलाकों में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच गोलीबारी जारी है। जलालाबाद एयरपोर्ट पर आतंकियों का कब्जा बना हुआ है। सुरक्षा बल आतंकियों से लोहा ले रहे हैं। मगर, यह बड़ा सुनियोजित और संगठित हमला है। इसलिए सुरक्षा बलों की कोशिश फिलहाल कामयाब होती नहीं दिख रही।

मुठभेड़ जारी

अभी तक जान-माल के नुकसान का आंकलन नहीं लगाया जा सका है। आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ जारी है। हमलावरों ने फाइव स्टार इंटर कांटिनेंटल होटल पर अपना कब्जा कर लिया है। वे होटल से लगातार गोलीबारी कर रहे हैं। दूसरी तरफ जलालाबाद एयरपोर्ट पर भी आत्मघाती हमला होने की खबर आ रही है।

अफगान संसद पर हमला

हथियारों से लैस आत्मघाती हमलावरों ने काबुल में संसद और दूतावास वाले इलाके को निशाना बनाते हुए हमला किया है. आत्मघाती आतंकियों ने संसद में घुसने की कोशिश की लेकिन सुरक्षा बलों ने उन्हें पीछे भागने पर मजबूर कर दिया.

जलालाबाद हवाई अड्डे पर हमला

उधर, नांगरहार प्रांत में जलालाबाद हवाई अड्डे के प्रवेश द्वार पर दो आत्मघाती हमलावरों ने खुद को उड़ा लिया. पुलिस का कहना है कि इनमें कई लोग घायल हुए हैं. चार आत्मघाती हमलावरों ने हवाई अड्डे के भीतर घुसने की कोशिश की और सुरक्षा बलों की ओर से रोके जाने पर दो ने विस्फोट कर दिए. दो अन्य हमलावर घायल हो गए और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. जलालाबाद में तालिबान आतंकवादियों ने आईएसएएफ की प्रांतीय पुनर्निर्माण दल (पीआरटी) पर भी हमला किया. एक स्थानीय टीवी चैनल ने खबर दी है कि वहां लड़ाई चल रही है.

तालिबान प्रवक्ता ने कहा कि जलालाबाद में हमारे कई मुजाहिदीनों ने हवाई अड्डे और पीआरटी पर हमला किया है. लड़ाई चल रही है और हमारे मुजाहिदीन कड़ी चुनौती दे रहे हैं. लोगार प्रांत में तालिबान आतंकवादियों ने एक पुलिस मुख्यालय, पीआरटी परिसर और प्रांतीय खुफिया विभाग के कार्यालय पर हमले किए. पाक्तिया प्रांत में भी आतंकवादियों ने पुलिस के क्षेत्रीय परिसर, हवाई अड्डे, पुलिस मुख्यालय और खुफिया विभाग के दफ्तर पर हमले किए हैं.

नाटो दफ्तर गर फायरिंग

हमलों को आतंकियों ने बड़े ही सुनियोजित ढंग से अंजाम दिया गया है।  जिन देशों के दूतावासों पर हमला हुआ है, उनमें ब्रिटेन, जर्मनी और रूस के दूतावास प्रमुख हैं। जर्मन दूतावास पर आतंकी हमले से आग लग गई है। अमेरिकी दूतावास के सामने भी धमाके हुए है। नाटो के दफ्तर के पास भी फायरिंग हुई है।

राजनयिक के घर पर हमला

ब्रिटिश राजनयिक के घर पर भी हमला किया गया है। धमाकों के बाद अमेरिकी दूतावास ने स्टॉफ को सुरक्षित स्थान पर जाने को कहा है।

400  आतंकी फरार

पाकके खैबर पख्तुनवा प्रांत के केंद्रीय जेल में अज्ञात अपराधियों के हमले के बाद 400 कैदी फरार हो गए. अपराधियों ने बन्नू केंद्रीय जेल पर भारी हथियारों से हमला किया. इस घटना में दर्जनों हमलवार एवं पुलिसकर्मी घायल हो गए.

होटल पर हमला

अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों ने वजीर अकबर खान इलाके में स्थित ‘काबुल स्टार होटल’ पर हमला किया. यह पंचसितारा होटल अमेरिकी दूतावास, आईएसएफ के मुख्यालय, तुर्की के दूतावास, राष्ट्रपति आवास, ईरानी दूतावास और कई अन्य राजनयिक दफ्तरों के पास है. बताया जा रहा है कि होटल में आग लग गई है. पुलिस से जुड़े सूत्रों ने बताया कि आतंकवादियों ने केंद्रीय जेल पर भारी हथियारों से हमला किया और रॉकेट दागे. जेल प्रशासन ने परिस्थितियों पर काबू पाने के लिए सुरक्षा बलों की मांग की है और सेना घटनास्थल पर पहुंच चुकी है.

Related Posts: