रिजर्व बैंक ने जारी किये 5,900 करोड़, गेहूँ खरीदी के लिये मिली अप्रैल की साख-सीमा,

भोपाल,2 अप्रैल,समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी और इस प्रक्रिया के संचालन के लिये रिजर्व बैंक ने 5,900 करोड़ रुपए की साख-सीमा जारी कर दी है. राज्य सरकार ने कुल 11 हजार करोड़ रुपयों की माँग की थी.

रिजर्व बैंक ने पहली किश्त के बतौर फिलहाल अप्रैल माह की खरीदी के लिये यह राशि दी है. आगे जैसे-जैसे जरूरत पड़ेगी, और धनराशि दी जायेगी. उधर आज तक हुई खरीदी की एवज में किसानों को 1138 करोड़ 87 लाख रुपये का भुगतान कर दिया गया है.

भुगतान व्यवस्था और आसान

राज्य सरकार ने किसानों को किये जाने वाले भुगतान की व्यवस्था को और त्वरित तथा आसान कर दिया है. अब जिला सहकारी बैंकों को सीधे तौर पर पैसा उपलब्ध करवाया जायेगा. यह बैंक खरीदारी कर रही सहकारी समितियों को आवश्यकता के अनुरूप धनराशि देते जायेंगे. निर्देश दिये गये हैं कि प्रत्येक सोमवार और गुरुवार को ऑन-लाइन यह जानकारी हासिल की जायेगी कि समितियों ने किसानों को सीधे तौर पर कितना भुगतान कर दिया है. इसके आधार पर दी जा चुकी धनराशि को घटाकर राज्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा शेष देय राशि जिला सहकारी बैंकों को प्रत्येक सोमवार और गुरुवार प्रदाय कर दी जायेगी.

8.26 लाख मी. टन खरीद

प्रदेश में अब तक समर्थन मूल्य पर 8 लाख 26 हजार 332 मीट्रिक टन गेहूँ खरीदा जा चुका है. इसमें 5 लाख 98 हजार 628 मीट्रिक टन गेहूँ यानी उपार्जित गेहूँ की 72 प्रतिशत मात्रा का सुरक्षित परिवहन कर इसे गोदामों में पहुँचा दिया गया है.

मैदानी दौरे शुरू

प्रदेश में गेहूँ खरीदी का मैदानी स्तर पर भोपाल से वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा जायजा लेना भी आज से शुरू हो गया है. अपर मुख्य सचिव खाद्य आपूर्ति एंटनी डिसा और खाद्य आयुक्त दीपाली रस्तोगी ने हरदा जिले में अबगाँवकला केन्द्र और हरदा कृषि मण्डी पहुँचकर काम का जायजा लिया. उन्होंने गेहूँ की तुलवाई, परिवहन और भण्डारण के लिये अपनाई जा रही प्रक्रिया देखी. इसके अलावा गेहूँ बेचने वाले किसानों को भुगतान के लिये दी जा रही कम्प्यूटर प्रिन्टेड रसीद का अवलोकन भी किया. इन अधिकारियों ने बारदाना उपलब्धता की जानकारी ली और उपज बेचने वाले किसानों से सीधे पूछताछ भी की. इस मौके पर राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंध संचालक चन्द्रहास दुबे, सहकारिता आयुक्त पी.सी. मीणा और हरदा कलेक्टर सुदाम खाडे भी मौजूद थे.

Related Posts: