नई दिल्ली, 5 जुलाई. 26/11 मुंबई हमले का अहम आरोपी अबू हमजा ने खुलासा किया है कि मुंबई हमले के लिए लश्कर-ए-तैयबा के 10 नहीं, 12 आतंकियों को प्रशिक्षित किया गया था। किन्हीं कारणों से 10 आतंकियों को ही भारत लाया गया था। हमजा ने जांच एजेंसी की पूछताछ में यह खुलासा किया है।

 

इसने बताया है कि लश्कर-ए-तैयबा और आईएसआई के बीच तालमेल बिठाने वाला मुख्य शख्स साजिद मीर था। अबू हमजा ने पूछताछ के दौरान यह भी बताया कि कंट्रोल रूम को खड़ा करने में एक बहुत ही वरिष्ठ पाक अधिकारी शामिल था जिसे सब क्वजनरल साहबक्व कहते थे। अब इस आला अफसर की शिनाख्त करने की कोशिश की जा रही है। जांच में यह भी पता चला कि अबू ने 26 नवंबर के हमलावरों से बात की थी। शुरू में 12 आतंकी हमला करने आने वाले थे, लेकिन दो आतंकवादियों को भारत नहीं लाया गया, क्योंकि वे कुछ मामलों में खरे नहीं उतरे थे।

मालूम हो कि 2008 में संडे टेलीग्राफ अखबार ने एक रिपोर्ट में बताया था कि मुंबई हमले में कम से कम 12 आतंकवादी शामिल थे और उनमें से 2 आतंकवादी अब भी फरार हैं। अब तक आधिकारिक तौर पर आतंकवादियों की संख्या 10 बताई गई थी। इनमें से 9 को मार गिराया गया था, जबकि एक को जिंदा पकड़ लिया गया था।

Related Posts: