CAठाणे/मुंबई,  महाराष्ट्र के ठाणे में एक शख्स ने रविवार तड़के अपने ही परिवार के 14 लोगों की गला रेतकर हत्या करने के बाद खुद भी जान दे दी.

पुलिस के हवाले से यह जानकारी मिली है. मृतकों में सात बच्च़े, छह महिलाएं और एक पुरुष शामिल हैं. हत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है. वारदात का शिकार होने वालों में 7 बच्चे, (4 लड़के और 3 लड़कियां) छह महिलाएं और एक पुरुष शामिल हैं. कासारवडवाली के रहने वाले हसनैन अनवर ने शनिवार रात अपनी बहनों को दावत पर बुलाया था.

हसन की चार बहनें नवी मुंबई के कोपर खैरने में और तीन भिवंडी में रहती थीं. सभी बहनें अपने बच्चों के साथ हसन के घर आई थीं. ठाणे के पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह के मुताबिक, शुरुआती जांच में इसके पीछे कोई पारिवारिक विवाद मालूम पड़ता है लेकिन इसकी असली वजह पूरी जांच के बाद ही पता चल पाएगी.

हसनैन मुंबई की एक निजी टैक्स कंसल्टेंट कंपनी में नौकरी करता था.
परमवीर सिंह ने बताया कि इस हत्याकांड में हसनैन की एक भांजी बच गई है जिसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. भांजी की हालत गंभीर है और अगर उसकी हालत में सुधार आता है, तो वह इस घटना के बारे में कुछ बता सकती है.

पुलिस के मुताबिक शनिवार देर रात तक हसनैन के घर पर दावत चल रही थी लेकिन करीब एक बजे के आसपास घर से चिल्लाने की आवाजें आने लगीं. इसके बाद आस पास के लोग इकठ्ठा हो गए. जब काफी देर तक किसी ने दरवाजा नहीं खोला, तब पुलिस को सूचना दी गई.

घटना की जानकारी मिलते ही ठाणे पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच शुरू कर दी. पुलिस को आशंका है कि हसनैन ने खाने में कोई नशीला पदार्थ मिलाकर पहले सबको बेहोश किया और फिर एक बड़े धारदार चाकू से गला रेतकर सबकी हत्या कर दी.

इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम देने के बाद हसनैन ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने जब दरवाज़ा तोड़कर घर में प्रवेश किया तो पूरे घर में खून से लथपथ लाशें बिखरी पड़ी थीं और हाथ में चाकू लिए हसनैन का शव छत से लटक रहा था.