childrenअहमदाबाद,   घूमंतू प्रजाति वंजारा समुदाय की 15 वर्षीय पूनम का परिवार अहमदाबाद में रहता है, लेकिन उन्होंने कभी स्कूल में दाखिला नहीं लिया। यह हाल अकेली पूनम का नहीं है, बल्कि देश के सबसे विकसित राज्यों में शुमार किए जाने गुजरात के करीब 15 लाख बच्चों का है।

6 से 18 साल की उम्र तक के 14.93 लाख गुजराती बच्चों का कभी स्कूल में दाखिला ही नहीं हुआ है। जनसंख्या के आंकड़ों के मुताबिक गुजरात में 6 से 18 वर्ष की उम्र तक के 9.63 पर्सेंट बच्चों ने कभी स्कूल का मुंह तक नहीं देखा। इस आयु वर्ग के गुजरात में 1.55 करोड़ बच्चे हैं। पूरे भारत की बात करें तो कुल 33.33 करोड़ बच्चे 6 से 18 साल की आयु वर्ग के हैं। इनमें से 4.40 करोड़ का कभी स्कूल में दाखिला ही नहीं कराया गया। यह इस आयु वर्ग की कुल जनसंख्या का 13.20 पर्सेंट है।