यूपी के सीएम का पद संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ ऐक्शन में आ गए हैं. रविवार को उन्होंने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्य में सबका साथ, सबका विकास के अजेंडे के साथ काम करने का वादा दोहराया. योगी ने सभी मंत्रियों को 15 दिन के अंदर संपत्ति का ब्योरा देने का निर्देश दिया है.

इसके अलावा सीएम ने कैबिनेट मंत्रियों को अनाप-शनाप बयान से बचने की नसीहत भी दी है. सीएम ने पूर्व की सरकारों पर राज्य को विकास की दौड़ में पिछडऩे के लिए जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि राज्य के विकास के लिए उनकी सरकार तुंरत सकारात्मक कदम उठाएगी. सीएम ने कहा कि राज्य में युवाओं को रोजगार देने के लिए बड़े कदम उठाए जाएंगे और गरीब तथा किसान उनकी प्राथमिकता सूची में सबसे ऊपर हैं.

आदित्यनाथ ने बीजेपी के शपथग्रहण समारोह को ऐतिहासिक दिन बताते हुए कहा, बीजेपी सरकार लोक कल्याण संकल्प पत्र 2017 में किए गए सभी वादों को पूरा करेगी. मैं राज्य की जनता को यह आश्वस्त करता हूं राज्य सरकार यूपी को विकास और खुशहाली के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ाने के लिए सभी प्रभावी कदम उठाएगी. राज्य की पूर्ववर्ती सरकारों पर भ्रष्टाचार और परिवारवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए सीएम ने कहा, राज्य में बिना भेदभाव के विकास किया जाएगा. यूपी की बदहाल कानून-व्यवस्था को जल्द ही ठीक किया जाएगा. सरकार महिलाओं की सुरक्षा, सशक्तिकरण और सम्मान के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं रखेगी.

Related Posts:

सरकार लोकपाल का दायरा घटाना चाहती है
विधान सभा में अश्लील वीडियो देख रहे थे मंत्रीजी
25 मिनट तक भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर पर मंडराता रहा ड्रोन
एनक्रिप्शन नीति पर यूटर्न मोदी के सिलिकॉन वैली दौरे की वजह से
दो रसोई गैस कनेक्शन संभव नहीं : प्रधान
पानी के लिए मचा हाहाकार, लातूर में लगानी पड़ी धारा 144, तेलंगाना में 66 की मौत