भोपाल,10 अप्रैल,नभासं. मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में वर्ष 20.6 में होने वाले सिंहस्थ महाकुंभ के दौरान जल-प्रदाय और शहर की पेयजल व्यवस्था के लिये राज्य शासन ने 192 करोड रूपये की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान कर दी है.

उज्जैन की सेवरखेडी जलाशय परियोजना के लिये 192.6 करोड रुपये की राशि का प्रस्ताव तैयार कर परियोजना परीक्षण समिति के समक्ष रखा गया.समिति के परीक्षण के बाद मंत्रिपरिषद द्वारा प्रस्ताव को यथावत अनुमोदित कर दिया गया.उज्जैन की सेवरखेडी जलाशय परियोजना के लिये मिली इस प्रशासकीय स्वीकृति की यह राशि सिंहस्थ 20.6 से संबंधित व्यय के अंतर्गत आवंटित होगी. उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वर्ष 2009 में ही सिंहस्थ 20.6 की तैयारियों के लिये कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दे दिये थे.इस निर्देशानुसार उज्जैन में सिंहस्थ संबंधी कार्यों के लिये प्रतिवर्ष बजट में भी राशि प्रावधानित की जा रही है.

सिंहस्थ एवं उज्जैन में पेयजल व्यवस्था के लिये लगभग 2 अरब रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति
राज्य शासन ने वर्ष 2016 में सिंहस्थ महाकुंभ के दौरान जल-प्रदाय के लिये और उज्जैन शहर की पेयजल व्यवस्था के लिये एक अरब 92 करोड़ से अधिक रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की है. उज्जैन की सेवरखेड़ी जलाशय परियोजना के लिये 192.6 करोड़ रुपये की राशि का प्रस्ताव तैयार कर परियोजना परीक्षण समिति के समक्ष रखा गया. समिति के परीक्षण के बाद मंत्रि-परिषद द्वारा प्रस्ताव को यथावत अनुमोदित कर दिया गया. उज्जैन की सेवरखेड़ी जलाशय परियोजना के लिये मिली इस प्रशासकीय स्वीकृति की यह राशि सिंहस्थ 2016 से संबंधित व्यय के अंतर्गत आवंटित होगी.

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वर्ष 2009 में ही सिंहस्थ 2016 की तैयारियों के लिये कार्य-योजना तैयार करने के निर्देश दे दिये थे.चौहान के निर्देशानुसार उज्जैन में सिंहस्थ संबंधी कार्यों के लिये प्रतिवर्ष बजट में भी राशि प्रावधानित की जा रही है.

Related Posts: