रायपुर, 13 नवंबर. कांग्रेस नेता अजीत जोगी ने रविवार को कहा कि पिछले आठ वर्षों के दौरान छत्तीसगढ़ के जनजातीय इलाके से 20,000 से ज्यादा लड़कियों को दिल्ली, मुम्बई, बंगलूरू और चेन्नई में ले जाकर बेच दिया गया है। जोगी ने कहा कि ये लड़कियां जशपुर, सरगुजा और रायगढ़ जिलों की हैं और मानव तस्कर नौकरी और प्रशिक्षण का लालच देकर उन्हें यहां से भगा ले गए हैं। मानव तस्करी पर गम्भीर चिंता जाहिर करते हुए जोगी ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि भाजपा जब से दिसम्बर 2003 में सत्ता में आई है, इस समस्या को नजरंदाज कर रही है।  जोगी ने कहा कि कानून-व्यवस्था की स्थिति राज्य के जनजातीय इलाके में मानव तस्करी में वृद्धि के लिए मुख्य कारण है। सरगुजा, कोरबा, जशपुर, कोरिया और रायगढ़ जिलों सहित छत्तीसगढ़ का विस्तृत उत्तरी क्षेत्र मानव तस्करी के मामलों के लिए कुख्यात है।  हाल के एक मामले में पुलिस ने 10 नवम्बर को जशपुर में एक युवक को गिरफ्तार किया था। उसपर 14 लड़कियों सहित 20 स्थानीय लोगों को भगाने का आरोप था।

Related Posts: