subhash_chandra_boseनई दिल्ली,  नेताजी सुभाष चन्द्र बोस से संबंधित 25 गुप्त फाइलों को बजट सत्र के समापन के बाद जारी किया जाएगा. संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने शुक्रवार को इसकी पुष्टि की.

भारतीय राष्ट्रीय अभिलेखागार के 125वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में शर्मा ने कहा, नेताजी के जीवन के को लेकर लोगों में बहुत उत्सुकता है. हम नेताजी से संबंधित 25 गुप्त फाइलों को सार्वजनिक करने के लिए तैयार हैं. इन्हें संसद के चालू बजट सत्र के बाद जारी किया जाएगा.

संसद का चालू बजट सत्र 13 मई को समाप्त होगा. उल्लेखनीय है कि इससे पहले नेताजी के 119वें जन्मदिवस 23 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नेताजी से जुड़ी करीब 100 गुप्त फाइलों को सार्वजनिक किया था. भारतीय अभिलेखागार के उप निदेशक संजय गर्ग ने कहा कि अभिलेखागार नेताजी से संबंधित गुप्त फाइलों के दूसरे सेट का डिजिटल वर्जन भी उपलब्ध कराया गया था.

संस्कृति मंत्री ने बताया, संस्कृति मंत्रालय से हमें नेताजी से संबंधित 25 फाइलों की दूसरी किश्त प्राप्त हुई है. हम इन सभी दस्तावेजों का डिजिटल वर्जन भी तैयार कर रहे हैं. जनवरी में 16,600 पेजों की ऐतिहासिक दस्तावेजों वाली फाइलें जारी की गयी थीं. इनमें नेताजी से संबंधित ब्रिटिश राज के समय से 2007 तक के दस्तावेज शामिल थे.

भारतीय अभिलेखागार ने नेताजी से संबंधित सभी सार्वजनिक फाइलों के लिए एक विशेष समर्पित बेवसाइट भी शुरू की है. पिछले साल अक्टूबर माह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नेताजी के परिजनों से मुलाकात की थी और नेताजी से संबंधित सभी फाइलों को सार्वजनिक करने की घोषणा की थी.

एम के मुखर्जी की अगुआई वाले तीसरे जांच आयोग ने नेताजी के जीवित होने संबंधी बात कहकर विवाद खड़ा कर दिया था. एनएआई के 125 वें स्थापना दिवस समारोह के मौके पर शर्मा ने एनएआई का प्रतीक चिन्ह भी जारी किया.

Related Posts: